DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रक्षा मंत्री के दफ्तर में जासूसी का शक

वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी के बाद क्या रक्षामंत्री एके. एंटनी के ऑफिस में भी जासूसी हो रही थी? एक सनसनीखेज घटनाक्रम में एंटनी के ऑफिस में जासूसी किए जाने की आशंका को बल मिला है। इसके चलते मामले की जांच खुफिया ब्यूरो (आईबी) से करानी पड़ी।

दरअसल, मिलिटरी इंटेलीजेंस (एमआई) के कार्मिकों ने नियमित जांच के दौरान रक्षामंत्री के टेलीफोन लाइन में बग होने की आशंका जाहिर की थी। बाद में रक्षा सचिव ने इस मामले की जांच आईबी से कराई। हालांकि मंत्रालय ने बग की बरामदगी से इनकार किया है। 

सूत्रों के अनुसार एमआई अधिकारियों ने एंटनी के आफिस की नियमित जांच के दौरान वहां टेलीफोन लाइन में बग रखे होने की सूचना मिली। ये अधिकारी एंटी बगिंग उपकरणों से लैस थे। नियमित प्रक्रिया के तहत सप्ताह में एक-दो बार रक्षामंत्री के आफिस की एंटी बगिंग जांच होती है।

जांच के दौरान वहां बग छुपाए होने के संदेश मिले, लेकिन बग बरामद नहीं हुआ। इसकी जानकारी रक्षा सचिव एस.के. शर्मा को दी गई तो उन्होंने एमआई की बजाय आईबी को बुलाकर ऑफिस की फिर से जांच कराई। उसे भी किसी प्रकार का बग नहीं मिला।

गत दिनों संवेदनशील रहा रक्षा मंत्रालय: रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार हाल में बड़े पैमाने पर हथियार सौदे को मंजूरी दी गई थी। इसे हथियाने के लिए कई देशों के बीच प्रतिस्पर्धा चल रही थी। दूसरा, जनरल वी.के. सिंह की जन्म तिथि के विवाद के मद्देनजर भी रक्षामंत्री का आफिस बेहद संवेदनशील हो गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रक्षा मंत्री के दफ्तर में जासूसी का शक