DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पढ़ाई में आगे निकल रहीं बेटियां

16 मार्च से शुरू हो रही यूपी बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियां अंतिम दौर में हैं। केन्द्र निर्धारण का काम पूरा हो चुका है और छात्र-छात्रओं को प्रवेश पत्र भेजे जा चुके हैं। इस बार की परीक्षा में शामिल हो रहे छात्र और छात्रओं की संख्या से जुड़ी तस्वीर भी अब साफ हो चुकी है।

इस साल हाईस्कूल परीक्षा में छात्रओं की संख्या में हुई वृद्धि ने बालिका शिक्षा के लिए किए गए प्रयासों का सकारात्मक असर दिखाया है। इंटर में भी छात्रओं की संख्या में बढ़ी तो है मगर यह हाईस्कूल की तुलना में काफी कम है। सबसे बड़ी खासियत यह है कि पिछले पांच सालों में सबसे अधिक छात्रएं इस वर्ष की हाईस्कूल परीक्षा में शामिल हो रही हैं।

आंकड़ों के मुताबिक हाईस्कूल परीक्षा में कुल 36,70,585 परीक्षार्थी रजिस्टर हैं। इनमें से 16,21,637 (1563306 रेगुलर और 58,331 प्राइवेट) छात्रएं हैं। यानी कुल रजिस्टर परीक्षार्थियों में से 44.17 प्रतिशत छात्रएं हैं। जबकि पिछले साल इनकी संख्या 42.31 फीसदी थी। इंटर में 26,70,790 परीक्षार्थी रजिस्टर हैं। इनमें से 11,48,628 (10,89,850 रेगुलर और 58,778 प्राइवेट) छात्रएं हैं। इस प्रकार इंटर परीक्षा में कुल 43 फीसदी छात्रएं हैं, जबकि पिछले साल छात्रओं का प्रतिशत 43.10 थी। हालांकि प्रतिशत के मामले में मामूली गिरावट हुई है लेकिन संख्या में वृद्धि हुई है। पिछले साल इंटरमीडिएट में छात्रओं की संख्या सिर्फ 8,89,204 थी।
शिक्षाधिकारियों की मानें तो दस साल पहले प्रदेशभर में चलाए गए स्कूल चलो अभियान का असर अब दिख रहा है। उस वक्त एक-एक घर में जाकर शत-प्रतिशत बच्चों का रजिस्ट्रेशन करवाया जाता था। इससे लड़कियों की संख्या में वृद्धि दर्ज की जा रही है। वैसे भी हाईस्कूल के बाद गांव के लोग मान लेते हैं कि बेटी ने बहुत पढ़ाई-लिखाई कर ली और अब शादी-ब्याह की उम्र हो गयी है। इसलिए इंटर में मामूली बढ़ोतरी हुई है।

बालिका शिक्षा को मिल रही स्वीकार्यता
पहले शहर की लड़कियां तो पढ़ाई करती थी लेकिन अब गांव की लड़कियां भी पढ़ाई में रुचि ले रहीं हैं। गांव के लोगों में बालिका शिक्षा के प्रति स्वीकार्यता बढ़ना इसका प्रमुख कारण है। इंटर में छात्रओं के प्रतिशत में भले ही मामूली गिरावट आयी हो लेकिन संख्या में खासी वृद्धि हुई है।
बासुदेव यादव, सचिव यूपी बोर्ड

पिछले पांच सालों में हाईस्कूल में रजिस्ट्रेशन का हाल (प्रतिशत में)
वर्ष  छात्र  छात्रएं
2012 55.83 44.17
2011 57.69 42.31
2010 59.47 40.53
2009 58.54 41.46
2008 58.31 41.69

पिछले पांच सालों में इंटर में रजिस्ट्रेशन का हाल (प्रतिशत में)
वर्ष  छात्र  छात्रएं
2012 57.00 43.00
2011 56.90 43.10
2010 57.08 42.92
2009 59.25 40.75
2008 58.86 41.14

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पढ़ाई में आगे निकल रहीं बेटियां