DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजा ने कोर्ट से फैसले की समीक्षा की अपील की

पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा ने 2 जी स्पेक्ट्रम लाइसेंसों को रद्द करने के फैसले की समीक्षा की शुक्रवार को मांग की। उन्होंने कहा कि यह नैसर्गिक न्याय के सिद्धांत और न्यायिक मानदंडों का उल्लंघन करता है और उन्हें बिना सुने हुए अभ्यारोपित किया गया।

राजा पिछले एक साल से अधिक समय से जेल में हैं। उन्होंने दावा किया कि उनके खिलाफ फैसले के निष्कर्ष 2 जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाले से जुड़े मुकदमे में उनके बचाव के बारे में पूर्वाग्रह पैदा करने वाले हैं।

उन्होंने कहा कि इस अदालत का फैसला जहां तक दूरसंचार मंत्री के तौर पर अनेक स्थानों पर उनके कृत्यों और निष्क्रियता की निंदा करता है, वह निष्पक्ष व्यवहार और न्याय तथा किसी व्यक्ति को दोषी ठहराने से पहले उसका पक्ष सुनने का अवसर देने के बुनियादी सिद्धांतों का उल्लंघन है।

उन्होंने कहा कि नैसर्गिक न्याय के तहत अगर किसी व्यक्ति के खिलाफ मामले पर कोई न्यायिक या अर्ध न्यायिक निकाय फैसला करता है तो उस व्यक्ति को उसका पक्ष सुनने का अवसर दिया जाना चाहिए और उसका पक्ष सुने बिना उसे दोषी ठहराने वाला फैसला अमान्य होगा। मौजूदा मामले में अदालत के फैसले में उनका पक्ष सुने बगैर उन्हें दोषी ठहराने से पहले नैसर्गिक न्याय और न्यायिक मानदंडों और निष्पक्ष व्यवहार के सिद्धांतों का पालन नहीं किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजा ने कोर्ट से फैसले की समीक्षा की अपील की