DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लापता मछुआरों और जहाज का सुराग नहीं

केरल तट पर नौकाओं की टक्कर में लापता मछुआरों का घटना के एक दिन बाद शुक्रवार को भी कोई पता नहीं चल पाया, जबकि तटरक्षक दल एवं नौसेना का खोजी अभियान अभी तक जारी है। इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई थी। अभी तक टक्कर मारने वाले जहाज का भी कुछ अता-पता नहीं चला है।

पहचान जाहिर न करने की शर्त पर जहाजरानी विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि तलाश का कार्य कुछ और समय तक चलेगा। उन्होंने बताया, ‘‘दुर्घटना के बाद से हमारे अधिकारियों ने कुछ जहाजों की तलाशी ली। लेकिन यह सब इस तरह हुआ कि किसी भी जहाज के अधिकार में अतिक्रमण न हो।’’

केरल तट पर गुरुवार तड़के एक जहाज ने मछली मारने वाली नौका को टक्कर मार दी थी। इस घटना में दो मछुआरे मारे गए और तीन लापता हैं। नौसेना के गोताखोरों के सम्भावित दुर्घटना स्थल पर पहुंचने की उम्मीद है। स्थानीय लोगों का मानना है कि लापता मछुआरों के शव डूबी हुई नौका में फंसे हो सकते हैं।

इस घटना से मछुआरों के समुदाय में आक्रोश व्याप्त है। उनका कहना है कि पिछले तीन महीनों में इस तरह की 15 घटनाएं हो चुकी हैं लेकिन अभी तक कुछ नहीं किया गया है।

मछुआरों के श्रमिक संघ के नेता जार्ज ने कहा, ‘‘चार करोड़ रुपये से अधिक की कीमत की तीन नौकाएं अलप्पुझा के निकट खड़ी हैं। क्योंकि इसके लिए प्रशिक्षित गोताखोर नहीं हैं। यदि यह होती तो जेवियर की जान बच सकती थी।’’ गुरुवार को नौका से निकाले गए जेवियर की कुछ घंटे बाद ही मौत हो गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लापता मछुआरों और जहाज का सुराग नहीं