DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हैंडपंप और शौचालयों के निर्माण को लेकर सरकार को घेरा

बिहार विधानसभा में हैंडपंप की मरम्मत और शौचालयों के निर्माण के सवाल पर राज्य सरकार को गुरुवार को अपने ही विधायकों के सवालों के कठघरे में खड़ा होना पड़ा।

प्रश्नकाल के दौरान लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री चंद्रमोहन राय ने कहा कि 2011-12 के दौरान 58200 हैंडपंप को मरम्मत करके चालू कर दिया गया है। विभाग ने 2010-11 के दौरान 61787 हैंडपंप लगाये और लगातार उनका रखरखाव हो रहा है।

प्रश्नकर्ता भाजपा के सदस्य डां अच्युतानंद ने आरोप लगाया कि केवल कागजी कार्रवाई हुई है। नेता प्रतिपक्ष अब्दुल बारी सिद्दिकी ने भी सरकार पर आरोप लगाया कि हैंडपंप की केवल कागज पर मरम्मत किया गया है। इस सवाल को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष के सदस्यों ने भी सरकार को घेरा।

मंत्री के उत्तर से असंतुष्ट सदस्यों ने शोर शराबा किया। सिद्दिकी ने इस प्रश्न को स्थगित करने की मांग की, जिसका विरोध संसदीय कार्य मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने किया।

वहीं, पटना में लाखों की आबादी वाले क्षेत्र में सार्वजनिक स्थानों पर शौचालयों और मूत्रालयों की संख्या पूछकर भाजपा सदस्य अरुण कुमार सिन्हा ने नगर विकास एवं आवास विभाग मंत्री प्रेम कुमार को घेरे में लिया और उनकी आलोचना की। हालांकि, विधायक को पटना में सार्वजनिक स्थान पर बने शौचालय और मूत्रालयों की संख्या के बारे में जानकारी नहीं मिल सकी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हैंडपंप और शौचालयों के निर्माण को लेकर सरकार को घेरा