DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एटीएस का फर्जी अधिकारी बना दरोगा पुत्र गिरफ्तार

वाराणसी, कार्यालय संवाददाता।

एटीएस का फर्जी अधिकारी बन ट्रकों से लूट करने वाले दरोगा पुत्र को चौबेपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मंगलवार की दोपहर दरोगा पुत्र किराए की कार लेकर ट्रकों से वसूली करने निकला था। खुद को एटीएस अधिकारी बताकर उसने इस काम में चौबेपुर और सैदपुर पुलिस की मदद भी ले ली लेकिन पुलिस ने जल्द ही उसकी इस चाल को पकड़ लिया।

पुलिस उसके भागे हुए साथी की तलाश में लगी हुई है। आरोपित का पिता गाजीपुर के गहमर थाने में तैनात है। एसपी ग्रामीण हरीश कुमार ने बुधवार को आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि आरोपित तरुण ओझा ने मंगलवार की दोपहर कंट्रोल रूम को फोन किया। उसने खुद को एटीएस का अधिकारी बताया। कहा कि चौबेपुर-गाजीपुर मार्ग पर वह एक ट्रक (यूपी 65 एआर 3067) का पीछा कर रहा है जिसमें तस्करी का माल लदा है।

सूचना पर चौबेपुर और सैदपुर की पुलिस सक्रिय हुई और तत्काल नाकेबंदी कर ली। सैदपुर में आखिरकार ट्रक को रोक लिया गया। प्रभारी निरीक्षक चालक से पूछताछ कर ही रहे थे कि पीछे से लोगान कार (यूपी 65 एडब्ल्यू 6676) से तरुण भी पहुंचा और प्रभारी निरीक्षक पर धौंस जमाते हुए खलासी मोती लाल को कार में ठूंसकर चौबेपुर की ओर लौट गया। सैदपुर प्रभारी ने जब ट्रक की जांच की तो पता चला कि ट्रक खाली था।

इसकी सूचना उन्होंने तत्काल चौबेपुर पुलिस को दी। सक्रिय हुए चौबेपुर थाना प्रभारी राजेश सरोज ने आरोपित को कार समेत दबोच लिया। तलाशी में उसके कब्जे से एयरगन, पुलिस का फर्जी परिचय पत्र, नशीली गोलियां, कई सिमकार्ड और कई बैंकों के एटीएम कार्ड बरामद हुए हैं।

आरोपित ने बताया कि वह चौबेपुर निवासी अंगद उर्फ अमावस यादव से असलहों की खेप लेने जा रहा था। पुलिस एक डायग्नोस्टिक सेंटर में चालक का काम करने वाले अंगद की तलाश कर रही है। एसपी ग्रामीण ने बताया कि आरोपित ने पहले भी ट्रकों से लूट की गई वारदातों को अंजाम दिया है। इस बाबत तफ्तीश जारी है। चुनावी डय़ूटी पर पिता, गोरखधंधे पर लाडलावाराणसी कार्यालय संवाददातागाजीपुर के गहमर थाने में तैनात दरोगा नंदकुमार ओझा की साथियों और अधिकारियों के बीच काफी अच्छी छवि है।

एसपी ग्रामीण ने बताया कि पिछले तीन चरणों से पिता चुनावी डय़ूटी में व्यस्त हैं और आश्चर्यजनक ढंग से उसकी मुहर, परिचय पत्र और अन्य जरूरी कागजात बेटे के पास मिले। पिता के परिचय पत्र से स्कैन कराकर तरुण ने भी खुद का एक परिचय पत्र बनवाया था। इस पर फोटो के स्थान पर पिता के साथ खिंचाई हुई अपनी फोटो लगाई थी। एसपी ग्रामीण हरीश कुमार ने बताया कि आरोपित दरोगा पुत्र ट्रकों से वसूली और लूट के धंधे में लंबे समय से लिप्त था। चौबेपुर के एक ट्रैवेल एजेंट से उसने चौथी बार लोगान कार किराए पर ली थी। गिरफ्तार तरुण ने बताया कि वह फैजाबाद विवि से एलएलबी का छात्र है और अर्दली बाजार में किराए पर कमरा लेकर रहता है। एसपी ग्रामीण के मुताबिक पकड़ा गया तरुण काफी शातिर प्रवृत्ति का है। प्रेसवार्ता के दौरान भी वह सवालों के गोलमोल जवाब देता रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एटीएस का फर्जी अधिकारी बना दरोगा पुत्र गिरफ्तार