DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेश मंत्रालय ने मांगा डीएम, डीआईजी से जवाब

देशद्रोह के मुकदमे में जिला जेल में बंद हवलदार खां के मामले में विदेश मंत्रलय ने डीएम और डीआईजी का जवाब तलब किया है। अफसरों से हवलदार खां के पाकिस्तानी होने के प्रमाण मांगे गए हैं। इसके बाद तय होगा बरेली जिला जेल में बंद कैंसर पीड़ित यह कैदी पाकिस्तान जाएगा या नहीं।
 
20 अप्रैल 2011 को बिथरी चैनपुर पुलिस ने हवलदार खां उर्फ पहलवान को गिरफ्तार किया था। पाकिस्तान में लाहौर के ग्राउंड बोगी रोड स्थित मकान नंबर 39 में रहने वाले हवलदार खां का कहना था कि वह 2005 में अटारी बार्डर से समझौता एक्सप्रेस से भारत आया था। दिल्ली गेट पर किसी ने उसका बीजा चोरी कर लिया। इसके बाद वह अपने पैतृक गांव उमरिया सैदपुर आ गया और फतेहगंज के ठिरिया खेतल में चौकीदारी करने लगा। बिथरी चैनपुर पुलिस ने उसके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया था। इसकी रिपोर्ट विदेश मंत्रलय भेजी गई थी।
गत 22 जनवरी को उसे तिहाड़ जेल भेजा गया था। पाक दूतावास के अधिकारियों ने हवलदार खां के मुकदमे की समीक्षा की। उसके बताए गए पते की छानबीन की। पाक अफसरों के मुताबिकयह पता फर्जी निकला। उन्होंने उसे अपना नागरिक मानने से इनकार कर दिया। उसे पाकिस्तान भेजने पर विचार कर रहे विदेश मंत्रलय ने अब डीएम और डीआईजी से उसके पाकिस्तानी होने के साक्ष्य मांगे हैं। अफसरों को सप्ताह भर में रिपोर्ट विदेश मंत्रलय भेजनी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विदेश मंत्रालय ने मांगा डीएम, डीआईजी से जवाब