'हार का एक खास कारण नहीं बता सकता' - 'हार का एक खास कारण नहीं बता सकता' DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'हार का एक खास कारण नहीं बता सकता'

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने आज यहां कहा कि त्रिकोणीय एकदिवसीय सीरीज में अपनी टीम की हार के लिए वह कोई एक खास कारण नहीं बता सकते हैं। भारत इस सीरीज में चार मैच हारकर बाहर होने की कगार पर खड़ा है।

धौनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार के बाद कहा कि मैं कोई एक खास कारण नहीं बात सकता। हमें अच्छी बल्लेबाजी करने की जरूरत थी। इसके अलावा मैंने अधिकतर बार टॉस गंवाया और हमें दूधिया रोशनी में बल्लेबाजी करनी पड़ी जो मुश्किल था। हम अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाये।

पूरी सीरीज पर गौर करने पर धौनी को लगता है कि युवा खिलाड़ियों को बड़े मैदान पर खेलने से काफी कुछ सीखने को मिला। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आज की हार में बारे में उन्होंने कहा कि जब हम लक्ष्य का पीछा करते हैं तो हम सातवें, आठवें और नौवें नंबर के बल्लेबाजों के लिए बहुत अधिक ओवर छोड़ देते हैं। ऑस्ट्रेलिया को 252 रन पर रोककर मैं खुश था क्योंकि लग रहा था कि वे 270 तक स्कोर करेंगे। सहवाग ने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की।

धौनी ने स्वीकार किया कि इरफान पठान के चोटिल होने के बाद मुश्किलें बढ़ गयी थी। उन्होंने कहा कि इसके अलावा उमेश यादव ने भी रन लुटाए हालांकि उसने अच्छी वापसी की।

भारत की अगर मगर के हिसाब से अब भी फाइनल में पहुंचने की संभावना है। इसके लिए उसने श्रीलंका को बड़े अंतर से हराकर बोनस अंक हासिल करना होगा और फिर अंतिम लीग मैच में ऑस्ट्रेलिया की श्रीलंका पर जीत की दुआ करनी होगी।

धौनी ने कहा कि मेरा गणित अच्छा नहीं है और मैं उसके बजाय मैदान पर अपने काम पर ध्यान केंद्रित करना चाहूंगा। ऑस्ट्रेलिया के कार्यवाहक कप्तान शेन वॉटसन ने स्वीकार किया कि पहली बार राष्ट्रीय टीम की अगुवाई करते हुए वह नर्वस थे।

उन्होंने कहा कि शुरुआत बहुत अच्छी रही, लेकिन मैं वास्तव में नर्वस था लेकिन सब कुछ ठीक रहा। जब आप खिलाड़ी के तौर पर खेलते हो तो आपको केवल अपनी गेंदबाजी पर ध्यान केंद्रित करना होता है लेकिन यहां आपको सोचना भी होता है और प्रभाव भी छोड़ना पड़ता है।

डेविड हस्सी जिस तरह से धौनी को रोककर रन आउट होने से बचे उससे भारतीय भले ही नाखुश थे लेकिन वॉटसन ने कहा कि मुझे बिली बाउडन और साइमन टॉफेल पर पूरा भरोसा है। वे दुनिया में सर्वश्रेष्ठ अंपायर हैं।
वॉटसन ने जब पूछा गया कि क्या वह आगे भी कप्तान बने रहना पसंद करेंगे, उन्होंने कहा कि मैं न नहीं कहूंगा लेकिन मैं चाहूंगा कि माइकल वापस आकर जिम्मा संभाले।

मैन ऑफ द मैच डेविड वॉर्नर ने कहा कि मुझे रनों की सख्त जरूरत थी और यह महत्वपूर्ण मैच था। मैंने अच्छी गेंदों को सम्मान दिया और ढीली गेंदों पर शॉट लगाए। इसके अलावा तेंदुलकर को रन आउट करना भी खास रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'हार का एक खास कारण नहीं बता सकता'