DA Image
10 अगस्त, 2020|8:04|IST

अगली स्टोरी

कप्तान चुनने का निर्णय सिर्फ बीसीसीआई के हाथ

टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने भले ही स्पष्ट किया हो कि बेहतर विकल्प मिलने पर वह अपने पद से हटने के लिए तैयार हैं लेकिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड 'बीसीसीआई' का कहना है कि यह निर्णय सिर्फ उसके हाथ में हैं।
 
बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि वर्तमान कप्तान को उसके पद पर बनाए रखना और नया टेस्ट कप्तान चुनना चयनकर्ताओं का काम होता है और नए उम्मीदवारों के नामों की सिफारिश वर्किंग कमेटी का काम है। उन्होंनें कहा कि अगर वर्किंग कमेटी मांग करेगी तो बोर्ड के शीर्ष अधिकारी टेस्ट और वनडे के लिए अलग अलग कप्तानों के मुद्दे पर विस्तृत चर्चा करने के लिए तैयार हैं। हालांकि बीसीसीआई अधिकारी ने कहा कि कप्तान धौनी के कप्तानी छोड़ने के बयान से साफ है कि वह आगे संघर्ष नहीं करना चाहते हैं।
 
गौरतलब है कि धौनी ने कहा था कि टीम में बेहतर विकल्प मिलने पर वह कप्तानी छोड़ने के लिए तैयार हैं। इसके अलावा टीम इंडिया के कप्तान ने कथित तौर पर यह बयान भी दिया था कि चयनकर्ता उन्हें वह टीम नहीं देते हैं जो उन्हें चाहिए।
 
उन्होंने कहा कि इस तरह जो टीम चयनकर्ताओं ने विश्वकप के दौरान चुनी थी उसकी जीत का श्रेय भी चयनकर्ताओं को ही मिलना चाहिए। उन्होंने बताया कि चयनकर्ताओं के अध्यक्ष कृष श्रीकांत ने ऑस्ट्रेलिया में टीम के इस निराशाजनक प्रदर्शन के लिए जिम्मेदारी ले ली है।
 
बीसीसीआई अधिकारी ने कहा कि बोर्ड के अधिकतर लोगों का मानना है कि विराट कोहली भविष्य में कप्तानी संभालने के काबिल हैं। क्योंकि धौनी को भी काफी कम उम्र में ही कप्तानी सौंप दी गई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:कप्तान चुनने का निर्णय सिर्फ बीसीसीआई के हाथ