DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच दिन में पांच तरह का ड्रेस पहना

हजारीबाग नीलेंदु जयपुरियार। पहले दिन काली बंडी, फिर स्टेपवाली बंडी, तीसरे दिन चेकवाली बंडी और चौथे दिन स्टाइलिश गाउन, फिर पांचवें दिन गलाबंद भड़कदार सूट। पिछले पांच दिन में देश के पूर्व वित्त मंत्री और हजारीबाग के सांसद यशवंत सिन्हा ने अपने ड्रेस सेंस और व्यवहार से लोगों को अचरज में डाल दिया है।

लोग पूछ रहे हैं कि क्या यशवंत बाबू स्टाइल आइकन बन रहे हैं। धीर-गंभीर और नपे-तुले शब्दों में अपनी बात कहने वाले यशवंत सिन्हा का अंदाज इन दिनों पूरी तरह बदल गया है। पाकिस्तान की सरकारी यात्रा से लौटने के बाद जब वह यहां आए, तो उनका नया अंदाज लोगों को चौंकाने के लिए काफी था।

वह 24 जनवरी को दिल्ली से यहां पहुंचे और 29 को वापस चले गए। इन पांच दिनों में एक दिन उनके अनोखे शॉल ने लोगों का ध्यान बरबस खींचा। 26 जनवरी को नगर भवन में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में वह एक ऐसा शॉल पहन कर पहुंचे, जो देखने में लड़कियों का पहनावा पोंचो (बंद शॉल) जैसा था, लेकिन उसकी खासियत यह थी कि उसमें बहुत बेहतरीन तरीके की डोर लगी थी, जिसे खींच कर खोला और पहना जा सकता था।

बदले अंदाज पर यशवंत सिन्हा कहते हैं कि रेशाम गांव के बदलाव और वहां के लोगों के आत्मविश्वास ने उन्हें भी आत्मविश्वास से भर दिया है। इस बदलाव को संसदीय क्षेत्र के लोग अब महसूस करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पांच दिन में पांच तरह का ड्रेस पहना