DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घटवार को अनुसूचित जाति में शामिल करने की अनुशंसा

झारखंड सरकार ने मंगलवार को विधानसभा में कहा कि राज्य की घटवार जाति को अनुसूचित जाति में शामिल करने के लिए केन्द्र सरकार से पुनः अनुशंसा की जाएगी। राज्य के मानव संसाधन मंत्री वैद्यनाथ राम ने झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) के प्रदीप यादव के एक तारांकित प्रश्न के उत्तर में स्वीकार किया कि 22 नवंबर 2004 और 23 नवंबर 2004 में मंत्रिपरिषद की बैठक में लिए गए निर्णय के आलोक में खेतौरी को अनुसूचित जन जाति में शामिल करने और संथाल परगना की घटवार जाति को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने के विन्दु पर पुनर्विचार की अनुशंसा केन्द्र सरकार से की गई थी।

अनुशंसा के आलोक में भारत सरकार द्वारा सम्बन्धित जातियों का इथनोग्राफिक विवरण मांगा गया। दोनों जातियो का इथनोग्राफिक विवरण जनजातीय कल्याण शोध संस्थान से प्राप्त हुआ है। इथनोग्राफिक विवरण को भारत सरकार को भेजने के लिए आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:घटवार को अनुसूचित जाति में शामिल करने की अनुशंसा