DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तिहाड़ के कैदियों को कैंपस प्लेसमेंट से मिली नौकरी

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की तिहाड़ जेल में कैदियों के लिए कैंपस प्लेसमेंट योजना चलाई गई थी जिसके तहत कई कैदियों को विभिन्न कोरपोरेट घरानों की ओर से नौकरी की पेशकश की गई है।
   
गृह राज्य मंत्री मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने लोकसभा में बलीराम जाधव के सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि तिहाड़ जेल नंबर दो और तीन में कैंपस प्लेसमेंट के तीन अभियान चलाए गए थे जिनमें 195 कैदियों को विभिन्न कोरपोरेट घरानों द्वारा रोजगार का प्रस्ताव किया गया था।
   
रामचंद्रन ने बताया कि कोई कैदी जिसे कैंपस प्लेसमेंट के दौरान रोजगार का प्रस्ताव किया गया हो, वह जेल से अपनी रिहाई के बाद ही नौकरी शुरू कर सकता है। उन्होंने बताया कि जेल विभाग, केवल ऐसे कैदियों, जिनका जेल के भीतर अच्छे व्यवहार का बेदाग रिकार्ड रहा हो, जो अपेक्षित शैक्षणिक:व्यावसायिक योग्यता धारक हो और इसके अतिरिक्त जिनकी सजा या न्यायिक हिरासत एक वर्ष के भीतर समाप्त होने की संभावना हो, उन्हीं को चयनित सूची में रखता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तिहाड़ के कैदियों को कैंपस प्लेसमेंट से मिली नौकरी