DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैं पायलट बनना चाहता हूं

मैंने इस साल पीसीएम और कंप्यूटर साइंस के साथ 12वीं पास की है। मैं पायलट बनना चाहता हूं, पर इससे संबंधित प्रक्रिया के बारे में नहीं जानता। क्या आप मुझे इसके बारे में जानकारी देंगी?
प्रवीण साहू

आपके विषयों के हिसाब से आप पायलट बनने के लिए योग्य हैं। इससे संबंधित प्रशिक्षण तीन चरणों में आयोजित किया जाता है- स्टूडेंट पायलट लाइसेंस, प्राइवेट पायलट लाइसेंस और कमर्शियल पायलट लाइसेंस। जिन्होंने 10+2 गणित और भौतिकी से पास की है और आयु 16 वर्ष है, वे डीजीसीए से मान्यताप्राप्त किसी भी फ्लाइंग क्लब में रजिस्टर्ड करवा सकते हैं, जैसे राष्ट्रीय उड़ान अकादमी, रायबरेली या प्राइवेट फ्लाइंग स्कूल। इसके बाद प्रवेश परीक्षा ली जाती है, जिसके विषय होते हैं-एयर रेगुलेशन्स, एविएशन मेटेरोलॉजी, एयर नेविगेशन, इंजन (टेक्निकल और स्पेसिफिक)। परीक्षा पास करने वालों को मेडिकल टेस्ट पास करना होता है, जिसे एयरफोर्स सेंट्रल मेडिकल एस्टेब्लिशमेंट, नई दिल्ली या इंस्टीटय़ूट ऑफ एविएशन मेडिसिन, बेंगलुरु आयोजित करता है। सिक्योरिटी डिपोजिट और बैंक क्लियरेंस भी जरूरी है। एक एसपीएल (स्टूडेंट्स पायलट लाइसेंस) विद्यार्थी को उड़ान में प्रशिक्षण देने के लिए दिया जाता है, जो 12 माह के लिए वैध होता है। एसपीएल धारक सिर्फ भारतीय क्षेत्र में और फ्लाइट इंस्ट्रुक्टर के सुपरविजन में ही उड़ान भर सकता है। 60 घंटे की उड़ान पूरी करने के बाद (इसमें 15 घंटे की डय़ूल फ्लाइट भी शामिल है, जैसे फ्लाइट इंस्ट्रुक्टर के साथ और कम से कम 20 घंटे की एकल फ्लाइट्स)। इसके बाद आप प्राइवेट पायलट लाइसेंस (पीपीएल) सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन में बैठ  सकते हैं। पीपीएल प्राप्त कर लेने के बाद आप कॉमर्शियल पायलट लाइसेंस (इसे डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन जारी करता है) के साथ कमर्शियल पायलट बन सकते हैं। इसके लिए पांच थ्योरी पेपर पास करने होंगे और 200 घंटे की फ्लाइट का अनुभव हासिल करना होगा। डीजीसीए (सेंट्रल एग्जामिनेशन ऑर्गनाइजेशन) पायलट, एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर और फ्लाइट इंजीनियर को लाइसेंस देने का काम करती है। अधिक जानकारी के लिए http:// dgca.nic.in पर लॉग-इन करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैं पायलट बनना चाहता हूं