DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कारोबारियों ने पुलिस को दी गश्त के लिए गाड़ी

नोएडा। कार्यालय संवाददाता। सेक्टर-39 कोतवाली क्षेत्र में पुलिस को गश्त के लिए एक बोलेरो गाड़ी मुहैया कराई गई है। गाड़ी में निजी गार्ड, चालक और दो पुलिसकर्मी थाने से तैनात रहेंगे। यह व्यवस्था कारोबारियों के सहयोग से कराई गई है। शहर में करीब ऐसी छह और गाडिम्यां पुलिस के बेड़े में जल्द ही शामिल हो जाएंगी। इस गाड़ी पर सायरन लगाकर पुलिसकर्मियों को वायरलेस सेट भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

हाल ही में हुई सेक्टर-41 में डकैती की वारदात के बाद सुरक्षा के लिहाज से उठाया गया यह कदम अहम माना जा रहा है। सेक्टर-39 थाने में सात पीसीआर गाडिम्यां हैं जिनमें से अधिकांश एक्सप्रेस-वे पर गश्त करती हैं। ऐसे में थाना क्षेत्र के विभिन्न सेक्टर में भी पुलिस गश्त की आवश्यकता रहती है।

इसके लिए पुलिस अधिकारियों ने आरडब्ल्यूए, कारोबारी और बिल्डर्स से मिलकर सुरक्षा के लिहाज से गाडिम्यों की आवश्यकता होने पर चर्चा की थी। इसके चलते सेक्टर-39 में एक बोलेरो गाड़ी मुहैया करा दी गई है। इस पर 12-12 घंटे की शिफ्ट में एक-एक पुलिसकर्मी वायरलेस सेट लेकर तैनात रहेगा। गाड़ी में एक निजी गार्ड और चालक भी रहेगा।

गाड़ी में तेल का खर्च, चालक व गार्ड का वेतन पुलिस को नहीं देना होगा। केवल पुलिस की ओर से सिपाही तैनात रहेंगे। यह गाड़ी सेक्टर के भीतरी हिस्सों में गश्त करेगी। स्कूल व कॉलेज की छुट्टी के समय गाड़ी को वहां पर मनचलों व संदिग्ध लोगों की धरपकड़ के लिए लगाया जाएगा। इसके अलावा गाड़ी इलाके में घूमकर लेपर्ड पर तैनात पुलिसकर्मियों की लोकेशन भी जांचेगी। अभी यह योजना फरवरी तक रहेगी।

कारगर होने पर इसे नियमित भी रखा जा सकता है।इस संबंध में एसपी सिटी अनंत देव ने बताया कि उद्यमियों, आरडब्ल्यूए व बिल्डर्स के सहयोग से गश्त के लिए गाडिम्यों का इंतजाम कराया जा रहा है।

जल्द ही पांच-छह गाडिम्यां और पुलिस के बेड़े में शामिल हो जाएंगी। आरडब्ल्यूए के पदाधिकारियों से सेक्टर के गेट पर भी एक की बजाय दो गार्ड तैनात करवाने का प्रयास किया जा रहा है। गौरतलब है कि हाल ही में सेक्टर-41 में अज्ञात बदमाश डकैती की वारदात कर फरार हो गए थे। इससे पूर्व एक्सप्रेस-वे पर एक निजी कंपनी के अधिकारी से सेंट्रो कार भी लूट ली गई थी।

गार्ड भी करते हैं गश्त

सेक्टर-41 आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष किशन बंसल ने बताया कि पिछले दिनों पुलिस अधिकारियों ने बैठक में कारोबारियों की मदद से गाड़ी मुहैया कराने की योजना का जिक्र किया था। इसके शुरू होने से निश्चित तौर पर सुरक्षा व्यवस्था में सुधार होगा। उन्होंने बताया कि रात को सेक्टर में निजी सुरक्षा एजेंसी के चार गार्ड बाइक पर गश्त करते हैं। इसके अलावा 16 अन्य गार्ड सेक्टर की सुरक्षा में विभिन्न पॉकेट में तैनात हैं। इनका खर्च आरडब्ल्यूए प्रत्येक घर से मदद लेकर करती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कारोबारियों ने पुलिस को दी गश्त के लिए गाड़ी