DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अफसरों को फॉल्ट ढूढ़ने में लग गए सात घंटे

 नोएडा। कार्यालय संवाददाता। सेक्टर 63 के पांच ब्लॉकों की करीब 1200 कंपनियों को सोमवार को आठ घंटे बिजली नहीं मिली। जिससे अधिकांश कंपनियों में उत्पादन ठप रहा। अधिकारी इसकी वजह इस बिजलीघर को आने वाले अंडरग्राउंड 33 केवी केबल में फॉल्ट को बता रहे हैं। अफसरों को फॉल्ट ढूढ़ने में सात घंटे लग गए। तड़के करीब चार बजे जी ब्लॉक का 33 केवी सबस्टेशन ठप हो गया। जिससे सेक्टर ए, एफ, जे की सभी कंपनियों और डी व सी की करीब तीन सौ कंपनियों की बत्ती गुल हो गई। पेट्रोलिंग से पता चला कि सेक्टर 62 के बड़े सबस्टेशन से आने वाले 33 केवी केबल में कहीं फॉल्ट हो गया है।

इंजीनियरों को इस फॉल्ट को खोजने में सात घंटे से भी ज्यादा का वक्त लग गया। दोपहर तीन बजे के बाद फॉल्ट ठीक हो सका। उसके बाद ही आपूर्ति सामान्य हो पाई। इसके अलावा डी ब्लॉक में भी सुबह सात से सवा आठ बजे तक बिजली गायब रही। वहीं सेक्टर-19 के सी ब्लॉक में पांच घंटे बिजली नहीं आई।

बिजली अधिकारियों का कहना है कि केबल डालने का काम चलने के कारण बिजली प्रभावित हुई है। बिजली कर्मचारी इसकी वजह लोकल फॉल्ट बता रहे हैं। इसके अलावा सेक्टर छह, तीन, 10, 19, 27, 44, 82 में भी बार-बार बिजली के झटके लगते रहे। बिजली की मांग 680 मेगावाट के पारनोएडा। ठंड बढ़ने के साथ ही बिजली की मांग बढ़ गई है। अधिकारियों के मुताबिक सोमवार को बिजली की मांग 680 मेगावाट के पार चली गई। जो और दिनों के मुकाबले 80 मेगावाट ज्यादा थी। शहरवासियों को अभी 70 मेगावाट तक खपत बढ़ने पर भी कटौती का सामना नहीं करना पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अफसरों को फॉल्ट ढूढ़ने में लग गए सात घंटे