DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तर भारत कोहरे की चपेट में, दुर्घटनाओं में 39 मरे

सर्द हवाओं के कारण उत्तर भारत में पारा लगातार गिरने से आम जनजीवन प्रभावित रहा। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखण्ड, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान एवं जम्मू एवं कश्मीर राज्यों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। ठंड की वजह से कई जगह दुर्घटनाएं भी हुईं। लगभग 90 रेलगाड़ियां या तो रद्द कर दी गई हैं या फिर विलम्ब से चल रही हैं। कोहरे के कारण विभिन्न दुर्घटनाओं में कम से कम 39 लोगों की मौत हो गई।

दिल्ली सोमवार सुबह कोहरे की मोटी चादर से ढक गई। घने कोहरे की वजह से सुबह दृश्यता 200 मीटर तक घट गई इससे वाहनों का परिचालन प्रभावित हुआ। सर्द हवाओं का दौर जारी है। इस बीच सोमवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री नीचे पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

आईएमडी के मुताबिक सुबह 8.30 बजे घने कोहरे के कारण दृश्यता 200 मीटर तक कम हो गई थी। राजधानी में कम से कम 29 रेलगाड़ियां रद्द कर दी गईं और 40 अपने निर्धारित समय से विलम्ब से चल रही हैं। कोहरे के कारण राजस्थान में दो स्थानों पर वाहनों की टक्कर हो गई जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई। राजस्थान में माउंट आबू 1.6 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा।

कश्मीर घाटी एवं ऊंचाई वाले स्थानों पर मौसम विभाग ने मंगलवार को हिमपात का पूर्वानुमान व्यक्त करते हुए पर्यटकों को सावधानी बरतने की सलाह दी है। मौसम विभाग द्वारा सोमवार को जारी बयान के अनुसार, ‘पश्चिमी विक्षोभ के बने रहने के कारण कल मैदानी इलाकों में मध्यम एवं पहाड़ों पर भारी हिमपात होने की सम्भावना है।’

15 दिनों से घाटी में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। मौसम विभाग के मुताबिक बारिश एवं हिमपात के कारण शून्य से नीचे चल रहे रात के तापमान में वृद्धि होगी। विभाग के अनुसार इस दौरान दिन के तापमान में क्रमश: गिरावट आएगी। हिमाचल प्रदेश का किलोंग राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा यहां न्यूनतम तापमान शून्य से 5.1 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया जबकि शिमला में 3.8 डिग्री सेल्सियस और धर्मशाला में 4.3 डिग्री सेल्सियस था।

पर्वतीय क्षेत्रों में हुई बर्फबारी के कारण वहां से आने वाली सर्द हवाओं से उत्तर प्रदेश में तापमान में गिरावट लगातार जारी है। सूबे में सर्दी से पिछले 24 घंटों के दौरान 24 लोगों की मौत हो गई। उत्तर प्रदेश के विभिन्न भागों में ठंड का कहर जारी रहा लखनऊ में सोमवार सुबह न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से तीन डिग्री कम है। मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान मौसम में कोई बदलाव नहीं होगा। शीतलहर और घने कोहरे का प्रकोप जारी रहेगा।

उधर प्रदेश के जौनपुर, बलिया, मऊ आजमगढ़, मिर्जापुर, वाराणसी, भदोही, मऊ और चंदौली जिलों में सर्दी से 24 लोगों की मौत हुई है। उधर, ताज नगरी आगरा में सोमवार को मौसम का न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बिहार में शीतलहर के कारण 17 लोगों की मौत हो गई। पिछले चार दिनों से राज्य में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इसे ध्यान में रखते हुए पटना सहित राज्यभर के सभी विद्यालयों में आठवीं तक के विद्यालय बंद कर दिए गए हैं। पटना मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार सोमवार सुबह पटना में न्यूनतम तापमान 7.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। वैज्ञानिकों के मुताबिक पटना का अधिकतम तापमान 15-17 डिग्री सेल्सियस के नजदीक बना हुआ है।

झारखण्ड में ठंड से अब तक 22 लोगों के मरने की खबर है। मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार से मौसम में सुधार आने की उम्मीद है। सोमवार को राजधानी रांची सात डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा। मध्य प्रदेश में तापमान में गिरावट का दौर जारी रहने से ठंड का असर बढ़ता ही जा रहा है। राजधानी भोपाल सहित अन्य हिस्सों के तापमान में एक से दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई।

मौसम विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय के अनुसार उत्तरी हवाओं ने राज्य के एक बड़े हिस्से को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। राज्य में सबसे ठंडा स्थान दतिया रहा है जहां न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। राजधानी भोपाल का निम्नतम तापमान 9.6, ग्वालियर का 4.7 और जबलपुर का न्यूनतम तापमान 7.8 डिग्री सेल्सियस हो गया। तापमान में गिरावट की वजह उत्तरी हवाओं का जोर पकड़ना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उत्तर भारत कोहरे की चपेट में, दुर्घटनाओं में 39 मरे