DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोड़ा और उसके साथियों की सेना अस्पताल में होगी जांच

झारखंड उच्च न्यायालय ने रिम्स में भर्ती न्यायिक हिरासत में बंद राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा और उनके तत्कालीन मंत्रियों कमलेश सिंह और भानु प्रताप शाही की सेना के अस्पताल में चिकित्सकीय जांच कराये जाने के सोमवार को आदेश दिये।

सामाजिक कार्यकर्ता दुर्गा उरांव की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए झारखंड उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति आर के मेरठिया और न्यायमूर्ति डीएन उपाध्याय की खंडपीठ ने सोमवार को आदेश दिया कि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, उनके तत्कालीन सहयोगी मंत्रियों कमलेश सिंह और भानु प्रताप शाही की रांची के नामकुम स्थित सेना के अस्पताल में चिकित्सकीय जांच करायी जाये कि क्या उन्हें अस्पताल में भर्ती रहने की आवश्यकता है।

याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया था कि ये राजनीतिज्ञ अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर रांची के प्रतिष्ठित राजेन्द्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में आराम कर रहे हैं, जबकि न्यायिक हिरासत में उन्हें जेल में होना चाहिए।  हजारों करोड़ रुपये के घोटाले में नवम्बर 2009 में गिरफ्तार इन राजनीतिज्ञों को अब तक जमानत नहीं मिल सकी है और वह रांची के बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं।

याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि तबियत खराब होने के नाम पर तीनों ही अधिकतर रिम्स में आराम फरमाते रहते हैं। उच्च न्यायालय ने झारखंड के पुलिस महानिरीक्षक कारागार को निर्देश दिया कि वह नामकुम सैन्य अस्पताल का मेडिकल बोर्ड गठित कराकर इन सभी राजनीतिज्ञों की जांच करवाये और इसकी रिपोर्ट न्यायालय के समक्ष पेश करें। मामले की अगली सुनवाई जनवरी के दूसरे सप्ताह में होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोड़ा और उसके साथियों की सेना अस्पताल में होगी जांच