DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली हाट में एक जनवरी से शुरू हो रहे दस्तकारी हाट समिति के वार्षिक शिल्प बाजार में पांच अफ्रीकी देशों की 18 महिलाएं हिस्सा लेंगी। ये सभी महिलाएं अपने सर्वश्रेष्ठ हस्तशिल्प लेकर यहां आएंगी।

दस्तकारी हाट समिति की अध्यक्ष जया जेटली ने बताया कि समिति का गठन शिल्प से जुड़े लोगों द्वारा वर्ष 1986 में किया गया था। इस सहयोग के परिणामस्वरूप मित्रता मजबूत होगी और शिल्प के क्षेत्र में विशेष सहयोग मिलेगा। वहीं जमीनी स्तर पर आर्थिक और कूटनीतिक सहयोग को भी बढ़ावा मिलेगा।

समिति इसी वर्ष अपने गठन के 25 वर्ष पूरे कर रही है। इस मौके को यादगार बनाने के लिए संस्था ने केन्या, ईथोपिया, दक्षिण अफ्रीका, युगांडा और रवांडा के प्रतिनिधियों को शिल्प बाजार में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया है।

संस्था ऐसा करके बाहर से आए सभी प्रतिनिधियों को भारतीय शिल्प से रूबरू होने, सीखने और अपनी हस्तशिल्प का विस्तार करने के लिए मंच प्रदान करना चाहती है।

इसके अलावा इस आयोजन में भारत के अलग-अलग गांव, कस्बों और शहरों से आए 190 कारीगर अपनी प्रतिभा की झलक दिखाएंगे।

भारतीय कारीगर रिंगल बांस और एईपान चित्रकारी, बिहार की कशीदाकारी, आजमगढ़ के मिट्टी के बर्तन, कर्नाटक की लाम्बानी कशीदाकारी, गुजरात और राजस्थान का पैच का काम और हस्तशिल्प से जुड़ी अन्य कलाओं का प्रदर्शन करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली हाट में अफ्रीकी देशों की 18 महिलाएं हिस्सा लेंगी