DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंटरपोल की मदद से कबूतरबाजों पर होगी कार्रवाई

थाइलैंड में मारे गए युवक की हत्या मामले में स्थानीय पुलिस अब इंटरपोल की मदद ले रही है। उपायुक्त के माध्यम से इंटरपोल को चिट्ठी लिखकर मृतक की हत्या में शामिल रहे कबूतरबाजों का ब्योरा और उसकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट की जानकारी मांगी गई है।

जिसके आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई को अंजाम देगी। फिलहाल पुलिस को इंटरपोल की ओर से कोई जवाब नहीं आया है। उधर,स्थानीय पुलिस अब तक आरोपी संजीव को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

गौरतलब है कि नौकरी के सिलसिले में राजूपुर खादर का प्रेमपाल लठौली के संजीव रावत के साथ मलेशिया गया था। वहां से कबूतरबाज अपहरणकर उसे थाइलैंड ले गए। वहां पहले फिरौती के रूप में परिजनों से करीब पांच लाख लिए गए। बाद में उसकी हत्या कर दी गई।

एक नवंबर को उसका शव थाइलैंड के सोंघला में बरामद की गई थी। बाद में परिवार के लोग स्थानीय प्रशासन की मदद से किसी तरह शव को भारत वापस लाए थे। आरोप है कि संजीव ही साजिश रचकर प्रेमपाल को विदेश ले गया और वहां कबूतरबाजों से साठगांठकर उसकी हत्या करा दी। इस मामले में चांदहट पुलिस ने संजीव समेत करीब एक दजर्न लोगों पर हत्या समेत कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर रखा है, लेकिन पुलिस अब तक इस मामले में किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

 स्थानीय पुलिस अब इस मामले में इंटरपोल की मदद ले रही है। पलवल डीसी के माध्यम से पुलिस ने इंटरपोल को पत्र लिखकर इस पूर मामले में शामिल कबूतरबाजों का ब्योरा मांगा है। इसके अलावा थाईलैंड पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई समेत पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट को तलब किया गया है। स्थानीय पुलिस के मुताबिक यदि थाइलैंड पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की होगी तो फिर उन्हें भारत लाने का प्रयास किया जाएगा। नहीं तो स्थानीय पुलिस वहां की पुलिस की मदद से उन्हें गिरफ्तार करवाने की कोशिश करेगी। इस मामले में अब तक स्थानीय आरोपी को भी पकड़ा नहीं जा सका है। पुलिस इंटरपोल की रिपोर्ट के आने के इंतजार का बहाना बना रही है। जबकि मृतक प्रेमपाल के जीजा पदम का आरोप है कि एक स्थानीय विधायक के दबाव के चलते पुलिस अब तक उस पर हाथ नहीं डाल सकी है।

अनिल धवन, एसपी पलवल: इस मामले में इंटरपोल से रिपोर्ट मांगी गई है। करीब 15 दिन पहले उपायुक्त के माध्यम से इंटरपोल को पत्र लिखा जा चुका है। उसके आने का इंतजार किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंटरपोल की मदद से कबूतरबाजों पर होगी कार्रवाई