DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीटीसी बस का शिकार बनी छात्र एलिस का अपनी दादी कृष्णा से बेहद लगाव था। वह हमेशा अपनी दादी के साथ ही रहती थी। आमतौर पर वह आवश्यकता नहीं होने पर घर से भी बाहर नहीं निकलती थी। लेकिन दादी जहां भी जाती वह उनके साथ जाती थी। हादसे के समय भी वह दादी का हाथ थामे खुशी-खुशी चल रही थी। लेकिन डीटीसी बस ने उसे व उसकी दादी की जीवन लीला ही समाप्त कर दी। हादसे के बाद से इस परिवार का रो-रो कर बुरा हाल है। 

एलिस के दादा राजू ने बताया कि उनका बेटा राकेश भारती एक ढाबा चलाता है। उनके परिवार में पति-पत्नी के अलावा दो बेटियां थी। बड़ी बेटी एलिस नवशक्ति विद्या मंदिर गल्र्स सीनियर सेकेण्डरी स्कूल में नवीं कक्षा की छात्र थी। वह पढ़ने में काफी होशियार थी। वह केवल स्कूल जाने के लिए ही घर से बाहर निकलती थी। उसे छोटे-छोटे काम के लिए भी घर से बाहर निकलना पसंद नहीं था। लेकिन उसकी दादी जहां जाती वह उनके साथ जरूर जाती थी। एलिस रविवार सुबह से ही बेहद खुश थी क्योंकि उसे अपनी दादी के साथ उनके मायके घूमने के लिए जाना था।
राकेश ने बताया कि वह अपनी मां, बेटी एलिस और भतीजी मुस्कान के साथ काली मस्जिद इलाके में जा रहे थे। असफ अली रोड स्थित टेलीफोन एक्सचेंज के समीप पहुंचकर वह रिक्शा लेने चले गए। उधर कृष्णा अपनी दोनों पोतियों को साथ लेकर सड़क किनारे पैदल-पैदल चलने लगी। उसी समय लापरवाही से गाड़ी चला रहे बस चालक ने एलिस व उसकी दादी की जान ले ली। हादसे में बच्चाी मुस्कान भी मामूली रूप से घायल हो गई। पीड़ित परिवार का यह भी आरोप है कि चालक शराब के नशे में था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दादी पोती की बस से कुचलकर मौत