DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुकेश अंबानी के खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट वापस लिया गया

उपभोक्ता विवाद निपटारा मंच ने रिलायंस ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट वापस ले लिया है। यह वारंट तब वापस लिया गया जब कंपनी ने जुर्माने के तौर पर उसके समक्ष 25 हजार रुपये जमा किए।

कंपनी के वकील के एस रविशंकर ने कहा कि मंच ने कल गिरफ्तारी वारंट वापस ले लिया जब रिलायंस कम्यूनिकेशंस ने 25 हजार रुपये जमा किए। इसमें ब्याज भी शामिल है। ऐसा तब किया गया जब उन्होंने 16 दिसंबर को जारी वारंट को वापस लेने के लिए आवेदन दिया।

त्रिसूर उपभोक्ता विवाद निपटारा मंच ने जोसफ मक्कोलिल की याचिका पर आदेश दिया। उसने एक मोबाइल फोन खरीदा था जिसमें विभिन्न विशेषताएं होने का वादा किया गया था। यह मोबाइल फोन 10 हजार रुपये देकर साल 2003 में रिलायंस के खुदरा दुकान से खरीदी गई थी।

यह मामला 2005 में दाखिल किया गया था जब मुकेश अंबानी रिलायंस इंफोकॉम के प्रबंध निदेशक थे। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि निर्माणकर्ता उल्लिखित कुछ शर्तों का पालन करने में विफल रहा और उसने क्षतिपूर्ति के लिए उपभोक्ता मंच का दरवाजा खटखटाया था।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुकेश अंबानी के खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट वापस लिया गया