DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिरकार कयानी और जरदारी में हुई बातचीत

पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल अशफाक परवेज कयानी ने बीमार राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी से संयोगवश बात की। छह दिसम्बर को जरदारी के अचानक दुबई चले जाने के बाद दोनों के बीच यह पहली बातचीत थी।

यह बातचीत शुक्रवार रात को हुई थी। इसके एक दिन पहले ही जनरल कयानी ने सर्वोच्च न्यायालय में कहा था कि गुप्त संदेश वाकई में अमेरिका भेजा गया था, जिसमें राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने सैन्य तख्तापलट की आशंका जाहिर की थी। सैन्य तख्तापलट की अफवाह एक बार फिर तब उड़ी थी, जब जरदारी छह दिसम्बर को हृदय की बीमारी का इलाज कराने अचानक दुबई चले गए।

समाचार पत्र 'डॉन' के अनुसार, प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने कहा कि शुक्रवार की रात जनरल कयानी के साथ एक बैठक के दौरान संयोगवश उन्हें राष्ट्रपति जरदारी का फोन आया। उन्होंने जरदारी से कहा कि जनरल कयानी के साथ उनकी बैठक चल रही है और राष्ट्रपति ने उनसे कहा कि कयानी से मेरा नमस्कार कह दीजिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इसके बाद उन्होंने फोन सेना प्रमुख को पकड़ा दिया। और इस तरह कयानी ने जरदारी से बात की। उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया कि बातचीत क्या हुई।

राष्ट्रपति के प्रवक्ता फरहतुल्ला खान बाबर ने कहा कि सेना प्रमुख के साथ किसी भी राजनीतिक मुद्दे पर चर्चा नहीं हुई। बाबर ने कहा कि जनरल कयानी ने राष्ट्रपति के स्वास्थ्य के बारे जानकारी ली।

बाबर ने कहा कि यह कोई सुनियोजित सम्पर्क नहीं था। दोनों के बीच संयोगवश बातचीत हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आखिरकार कयानी और जरदारी में हुई बातचीत