DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुडनकुलम संयंत्र: प्रदर्शनों में विदेशी हाथ होने का संदेह

कुडनकुलम परमाणु संयंत्र के खिलाफ प्रदर्शनों में विदेशी हाथ होने का संदेह जताते हुए सरकार ने तमिलनाडु में छह एनजीओ के कामकाज की जांच शुरू की है और उनसे विदेशों से मिली राशि के उपयोग के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया है।

कुडनकुलम परमाणु संयंत्र रूस की मदद से तैयार किया जा रहा है और इस पर करीब 14 हजार करोड़ रुपए की लागत आने का अनुमान है। इस संयंत्र को चालू करने के लिए प्रयासरत सरकार परियोजना से जुड़ी आशंकाओं को दूर करने का भी प्रयास कर रही है।

सरकारी सूत्रों का कहना है कि संदेह है कि प्रदर्शनों को देश के बाहर से हवा दी जा रही है और आईबी ने इस संबंध में जांच शुरू की है। सूत्रों ने कहा कि प्रदर्शनों के लिए पैसे दिए जा रहे हैं। और इस पहलू को ध्यान में रखते हुए जांच शुरू की गयी है।

गृह मंत्रालय ने तूतिकोरिन में स्थित छह गैर सरकारी संगठनों को नोटिस जारी किया है और उनसे विदेशी योगदान कानून के तहत मिली राशि के उपयोग के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया है। सूत्रों ने हालांकि इन गैर सरकारी संगठनों की पहचान उजागर नहीं की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुडनकुलम संयंत्र: प्रदर्शनों में विदेशी हाथ होने का संदेह