DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एटीएम कार्ड उड़ाकर लगाया डेढ़ लाख का चूना

दरोगा के बेटे ने नगर निगम कर्मचारी का एटीएम कार्ड उड़ाकर 1 लाख 55 हजार रुपए का चूना लगाया। ठग कर्मचारी के बेटे का दोस्त है। वह कई दिन से दोस्त के घर में अलीगढ़ से आकर रुका था। मौका पाकर ठग दोस्त ने एटीएम कार्ड उड़ाकर अलग-अलग बैंकों से कई दिन में रुपए निकाले। कई दिन बाद रुपए निकाले जाने का पता चलने पर कर्मचारी ने नजीराबाद थाने में तहरीर दी है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

नजीराबाद के लक्ष्मीरतन कॉलोनी निवासी राम स्वरूप साहू के बेटे सुरेश का दोस्त यागवेंद्र प्रताप सिंह 3 दिसंबर को अलीगढ़ से उसके घर आया। यागवेंद्र ने बताया कि वह पिता के काम से आया है। उसे कुछ दिन यहां रुकना पड़ेगा। यागवेंद्र के कहने पर सुरेश ने उसे घर में रख लिया। दूसरे दिन यागवेंद्र राम स्वरूप की डायरी और पीएनबी बैंक का एटीएम लेकर चला गया। चालाक ठग यागवेंद्र एक  एटीएम कार्ड भी रख गया। इससे किसी को शक नहीं हुआ। एटीएम का कोड यागवेंद्र को डायरी से पता चल गया। उसके बाद उस एटीएम कार्ड से 6 दिसंबर को लाजपतनगर ब्रांच से 40 हजार, 7 दिसंबर को कैनाल रोड से 40 हजार, 8 दिसंबर को गाजियाबाद में चार बार में 20 हजार और 9 दिसंबर को 500 रुपए निकाले।

राम स्वरूप ने बताया कि 14 दिसंबर को उसने बेटे को रुपए निकालने के लिए भेजा तो एटीएम ने काम ही नहीं किया। यह वह एटीएम था, जो यागवेंद्र छोड़ गया था। बैंक में शिकायत करने पर पता चला कि एटीएम ही गलत है। उसके बाद खाते का बैलेंस देखा तो रुपए निकाले जाने का पता चला। यागवेंद्र के पिता इस समय अलीगढ़ में तैनात हैं। वह यहां 2007-8 में नजीराबाद या रायपुरवा में भी रह चुके हैं। उस समय यागवेंद्र सुरेश के साथ डीएवी कॉलेज में पढ़ता था। नजीराबाद इंस्पेक्टर का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एटीएम कार्ड उड़ाकर लगाया डेढ़ लाख का चूना