DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लाहिडी का 84वां बलिदान दिवस मनाया गया

काकोरी ट्रेन लूट कांड में फांसी पर लटकाए गए अमर शहीद राजेन्द्र नाथ लाहिडी का शनिवार को उत्तर प्रदेश में गोंडा जिला जेल में 84वां बलिदान दिवस मनाया गया।

अंग्रेज सरकार ने डर से शहीद लाहिडी को निर्धारित तारीख से दो दिन पहले ही यहां जिला जेल में फांसी दे दी थी। जबकि उनके साथी पंडित राम प्रसाद बिस्मिल को फैजाबाद में और अशफाक उल्ला खां को फैजाबाद जेल में 19 दिसम्बर को फांसी पर लटकाया गया था। शहीद लाहिडी की स्मृति को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए स्वतंत्रता सेनानियों, समाजसेवियों और प्रशासनिक अधिकारियों ने वैदिक रीति से मंत्रोचारण के बाद जेल में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।
 
जिलाधिकारी राम बहादुर ने शहर के बीचों बीच स्थित पीपल चौराहा को लाहिडी चौराहा, अंबेडकर चौराहा से जेल तक जाने वाली सड़क को
लाहिडी मार्ग और उनके दाह संस्कार वाले बूचड़घाट को लाहिडी घाट करने की घोषणा की। उन्होंने बताया कि गोंडा कचहरी रेलवे स्टेशन का नाम राजेन्द्र नाथ लाहिडी स्टेशन करने के लिए राज्य सरकार की सिफारिश के साथ एक पत्र रेलवे मंत्रालय को भेजा जाएगा। शहर के स्कूली बच्चों ने दो सौ मीटर के तिरंगे के साथ एक जुलूस निकाला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लाहिडी का 84वां बलिदान दिवस मनाया गया