DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नए साल में जब्त होगी कई लोकसेवकों की संपत्ति

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। नए साल यानी 2012 में भ्रष्टाचार के मामले में फंसे लोकसेवकों से उनका आशियाना छिन जाएगा। राज्य सरकार ने उनकी संपत्ति जब्त करने की तैयारी शुरू कर दी है। इस साल अभी तक कोर्ट के आदेश से दो लोकसेवकों की संपत्ति जब्त की जा चुकी है और तीसरे की प्रक्रिया शुरू हो गई है। निगरानी विभाग अब इस अभियान में और तेजी लाने की कोशिशों में जुटा है। भ्रष्टाचार के खिलाफ इस मुहिम के दायरे में ऐसे एक दर्जन से अधिक लोकसेवक हैं, जिनकी संपत्ति जब्त की जानी है।

इनमें अगर क्लास वन अफसरों की बात करें तो एक हैं राज्य के पूर्व औषधि नियंत्रक वाई.के.जायसवाल। शिवपुरी मुहल्ले में इनका आलीशान मकान है। इनके अलावा लघु सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता (टय़ूब वेल) अवधेश प्रसाद सिंह, पूर्व डीजीपी नारायण मिश्र और राजभाषा के पूर्व निदेशक डी.एन.चौधरी भी शामिल हैं जिनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने कार्रवाई की है। सूत्रों के अनुसार इनमें से कई लोगों की चल और अचल संपत्ति करोड़ में बताई गई है। कुछ की संपत्ति दूसरे राज्यों में भी है और उसे भी जब्त किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नए साल में जब्त होगी कई लोकसेवकों की संपत्ति