DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देवरिया में उतार दी बस्ती मण्डल की खाद

वाचस्पति मिश्र,संतकबीरनगर। बस्ती मंडल में खाद के लिए हाहाकार मचा हुआ है। मंडल को मिलने वाली यूरिया को देवरिया में उतार दिया गया। ऐसे में सिर्फ संतकबीरनगर ही नहीं, बस्ती और सिद्धार्थनगर जिले को भी देवरिया से ही खाद की उठान करानी होगी। इससे स्वभाविक है कि उठान का खर्च बढेम्गा। इसका सीधा असर यूरिया के रेट पर भी पड़ेगा।

जिले में यूरिया का संकट बना हुआ है। ऊपर से उर्वरक कम्पनियां इस संकट को और बढ़ा रही हैं। जिले में आरसीएफ कम्पनी को 300 एमटी यूरिया की आपूर्ति करनी थी, लेकिन यह यूरिया देवरिया के रैक प्वाइण्ट पर उतार दी गई। अब इस यूरिया को संतकबीरनगर से गाडिम्यां भेजकर उठान करानी होगी। यही नहीं हद तो यह है कि पिछले सप्ताह बस्ती मण्डल को की गई 22 सौ एमटी यूरिया गोरखपुर को आवंटित कर दी गई।

कृषि विभाग से जुडेम् सूत्रों के अनुसार यह यूरिया इफको के फूलपुर उत्पादन केंद्र से मालगाड़ी पर लादकर बस्ती रैक प्वाइण्ट के लिए भेजी गई, लेकिन रास्ते में ही इसका एलाटमेण्ट गोरखपुर मण्डल को कर दिया गया। ऐसे में अब दूसरी रैक से बस्ती मण्डल की यूरिया पहुंचेगी।

कम से कम एक से डेढ़ सप्ताह तक मण्डल के किसानों को यूरिया के लिए इंतजार करना पड़ सकता है। कम्पनियां नहीं पूरा कर रही हैं अपना कोटा जिले की कुल आवश्यकता की 60 फीसदी यूरिया की सप्लाई सरकारी उर्वरक कम्पनी इफको को करनी है। शेष 40 फीसदी की जिम्मेदारी प्राइवेट उर्वरक कम्पनियों पर है।

महीने के लक्ष्य के अनुसार यदि देखा जाए तो इफको ने कुल मिलाकर अपना लक्ष्य अब तक मेण्टेन रखा है, लेकिन प्राइवेट उर्वरक कम्पनियां इस लक्ष्य से काफी पीछे हैं। इसमें शक्तिमान, टाटा, चम्बल, आईपीएल, आरसीएफ और एनएफएल मुख्य रूप से शामिल हैं। ऐसे तो नहीं कण्ट्रोल होगी यूरिया की हाई रेटिंगरबी की बुवाई के लिए जिले को 14 हजार एमटी यूरिया चाहिए थी, लेकिन मात्र साढेम् चार हजार एमटी यूरिया की ही आपूर्ति हुई। करीब डेढ़ हजार एमटी यूरिया बाद में पहुंची। डीएपी का रेट नौ सौ से ऊपर पहुंच जाने के कारण बुवाई के समय भी यूरिया की डिमाण्ड किसान करते रहे, लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी। जाहिर सी बात है कि देवरिया से यूरिया मंगाने पर उसका भाड़ा भी किसानों से वसूला जाएगा।

यूरिया की आपूर्ति बढ़ाने के लिए पत्र व्यवहार किया जा रहा है। वस्तुस्थिति से शासन को अवगत करा दिया गया है। कोशिश की जा रही है कि अगले सप्ताह तक जिले में यूरिया की आपूर्ति बढेम्। कुछ प्राईवेट कम्पनियों ने मनमानी की है इसके लिए भी जरूरी कार्रवाई की जाएगी। देवरिया में उतारी गई तीन सौ एमटी खाद को मंगवाने के लिए प्राइवेट दुकानदारों को निर्देश दिया गया है।राजकुमार, जिला कृषि अधिकारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:देवरिया में उतार दी बस्ती मण्डल की खाद