DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

याचिका के बाद भी कर दिया अवैध प्रेरक का चयन

मैनपुरी, हिन्दुस्तान संवाद। बेसिक शिक्षा विभाग में प्रेरक चयन प्रक्रिया को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का खेल शुरू हो गया है। औंछा क्षेत्र की ग्राम पंचायत अकबरपुर में शिक्षाधिकारियों ने अवैध रूप से धनराशि वसूल कर प्रेरक चयन में अवैध अथ्यर्थी का चयन कर दिया है जबकि मैरिट में आने वाली महिला का सूची में प्रथम स्थान होने के बाद भी चयन नहीं किया गया है। जबकि मामला कोर्ट में विचाराधीन है। औंछा थाना क्षेत्र की ग्राम सभा अकबरपुर निवासी अवनीश कुमार की पत्नी नीरज देवी ने ग्राम सभा में प्रेरक चयन के लिए आवेदन किया था।

प्रेरक चयन के लिए आये आवेदकों की मैरिट सूची में भी नीरज का नाम पहले स्थान पर है। नीजर ब्रज कोर्स भी कर चुकी है। जिसे शासनादेश के अनुसार प्राथमिकता मिलनी चाहिए। नीरज ने बीएसए को दिये शिकायती पत्र में कहा कि अकबरपुर ग्राम पंचायत की चयन प्रक्रिया का मामला हाईकोर्ट में चल रहा है। ऐसे में यहां चयन नहीं किया जाना चाहिए था। नीरज ने बीएसए से अकबरपुर ग्राम पंचायत का प्रेरक चयन रद्द किये जाने की मांग की है।

उन्होंने कहा है कि जब तक कोर्ट को निर्णरू नहीं दे देता है तब तक चयन नहीं होना चाहिए। बीएसए ने मामले को संज्ञान में लेते हुए जांच शुरू कर दी है। साक्षात्कार 22 को मैनपुरी, हिन्दुस्तान संवाद अपर जिला विकास अधिकारी विवेक वाजपेयी ने बताया कि उत्तर प्रदेश अनूसूचित जाति वित्त एवं विकसा निगम के माध्यम से संचालित कौशल वृद्धि प्रशिक्षण के लिए जिन अभ्यर्थियों ने आवेदन किये थे उनका साक्षात्कार 22 दिसम्बर को पूर्वान्ह 11 बजे से जिला विकास अधिकारी कार्यालय में किया जाएगा। अभ्यर्थी साक्षात्कार के समय अपने मूल अभिलेखों के साथ उपस्थित हों।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:याचिका के बाद भी कर दिया अवैध प्रेरक का चयन