DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉक्टर के साथ पचास लाख की धोखाधड़ी

 ग्रेटर नोएडा/वरिष्ठ संवाददाता। शहर में धोखाधड़ी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। हैरानी की बात तो यह है कि जालसाजों के फेर में अच्छे-खासे पढ़े-लिखे लोग आ रहे हैं। गुरूवार को बिसरख कोतवाली के हल्दौनी मोड़ पर बने एक अस्पताल में एक डाक्टर के साथ 50 लाख रुपए की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। एक साल पहले डॉक्टर ने अस्पताल मालिक के साथ 50 प्रतिशत की भागीदारी की थी। अब साझीदार ने डॉक्टर को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। डॉक्टर ने अस्पताल प्रबंधक और उसके भाई के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई है।

आरोपी प्रबंधक उसे जान से मारने की धमकी दे रहा है। विशुद्ध मोहन कौशल अपनी पत्नी के साथ सेक्टर बीटा वन की आम्रपाली सोसायटी में रहता है। मूलरूप से इंदौर के रहने वाले डा.विशुद्ध का सेक्टर एल्फा वन में अपना एक क्लीनिक है। विशुद्ध शारदा विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफेसर था।

उसने बताया कि वह अपने क्लीनिक का अखबारों में विज्ञापन देता था। इसके माध्यम से नवंबर 2010 में मनोज भारद्वाज नाम का एक युवक उसके क्लीनिक पर आया था। मनोज का हल्दौनी मोड़ पर बालाजी अस्पताल है। मनोज ने उसे अस्पताल में भागीदार बनाने का प्रस्ताव दिया। प्रस्ताव स्वीकार करके विशुद्ध अस्पताल में 50 प्रतिशत का पार्टनर हो गया। उस समय उसने अस्पताल में पांच लाख रुपए लगाए थे। जून 2011 में उसने अस्पताल के लिए जगत फार्म स्थित ओरिएंटल बैंक ऑफ कामर्स से 48 लाख रुपए का लोन लिया। लोन के पैसे से बीते अगस्त में अस्पताल का सारा सामान खरीद लिया गया।

इस बीच अस्पताल को एक साल में करीब 77 लाख रुपए का मुनाफा हुआ। जब उसने मुनाफे में अपना हिस्सा मांगा तो, मनोज ने उसे अस्पताल आने से मना कर दिया। डॉक्टर ने जब इसका विरोध किया तो, मनोज ने उसके साथ मारपीट की और अस्पताल आने पर जान से मारने की धमकी दी। डॉक्टर विशुद्ध ने बताया कि मनोज ओर उसका भाई मोबाइल पर धमकी भरे एसएमएस भेज रहे हैं। इसके अलावा आरोपी अपने साथ दर्जनों गुंडों के साथ उसके घर के चक्कर काट रहा है। जिसके कारण वह अपने रिश्तेदारों के यहां रहने को मजबूर है। पिछले दो महीने से मनोज ने बैंक की किश्त जमा करनी बंद कर दी है। डॉक्टर ने अपने साथ हुई धोखाधड़ी की शिकायत बिसरख पुलिस से की। कोई मदद नहीं मिलने पर एसएसपी और डीआईजी से शिकायत की। उच्चाधिकारियों के आदेश पर गुरूवार को बिसरख पुलिस ने मनोज और उसके भाई उमेश के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। पुलिस का कहना है कि जांच की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डॉक्टर के साथ पचास लाख की धोखाधड़ी