DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीके अस्पताल को मिलेंगे अज्ञात शव रखने के लिए फ्रीजर

ग्रीवेंस कमेटी की बैठक में शुक्रवार को बीके अस्पताल की मोरचरी में अज्ञात शवों की दुर्गति व तीसरी मंजिल पर अज्ञात मरीजों की हो रही बेकदरी को लेकर सदन गूंज उठी। यह सुन बैठक की अध्यक्षता कर रहे स्वास्थ्य मंत्री नरेंद्र सिंह भी चौंक उठे। उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जिला उपायुक्त को तुरंत इस समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही बीके अस्पताल में छह नए फ्रीजर रेडक्रॉस से खरीदे जाने का निर्णय लिया गया।

बैठक की अध्यक्षता स्वास्थ्य मंत्री राव नरेंद्र सिंह ने की। इस मौके पर नगर निगम महापौर  अशोक अरोड़ा, विधायक आनंद कौशिक, संसदीय सचिव शारदा राठौर, जिला उपायुक्त डा. राकेश गुप्ता, नगर निगम आयुक्त डा. डी सुरेश, हुडा प्रशासक अमनीत पी कुमार के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा ग्रीवेंस कमेटी के सदस्य मौजूद थे।

सदन की बैठक के दौरान स्वास्थ्य मंत्री राव नरेंद्र सिंह समाजसेवी अनीश पाल की शिकायत सुनकर दंग रह गए कि बीके अस्पताल में फ्रीजर के अभाव में एक शव दो दिन तक सड़ता रहा। हालांकि बीके अस्पताल के पीएमओ ने इसे गलत बताते हुए अपना बचाव किया। साथ ही उन्होंने यह बात भी कबूली कि उनके अस्पताल में अज्ञात शवों की तुलना में फ्रीजरों की संख्या कम है। इसे लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने जिला उपायुक्त से तुरंत फ्रीजरों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। सदन को यह भी बताया गया कि अस्पताल की तीसरी मंजिल पर अज्ञात मरीजों का उपचार होता है, जहां उनकी देखरेख न होने के कारण उनकी बेकदरी हो रही है। इसे लेकर समाजसेवी अनीश पाल ने जिला उपायुक्त से कहा कि मानवता के नाते समाजसेवी संस्थाओं की इस कार्य में मदद ली जानी चाहिए। इस पर जिला उपायुक्त ने रेडक्रॉस सचिव को निर्देश दिए कि वह सामाजिक संस्थाओं की इस कार्य में मदद लें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीके अस्पताल को मिलेंगे अज्ञात शव रखने के लिए फ्रीजर