DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंसेक्स 345 अंक टूटकर दो साल के निचले स्तर पर

आर्थिक वृद्धि को लेकर चिंता रिजर्व बैंक की चिंता के बीच निवेशकों की बिकवाली से बांबे स्टाक एक्सचेंज का सेंसेक्स 345 अंक टूटकर दो साल के निचले स्तर पर आ गया। शुक्रवार को घोषित मौद्रिक नीति में भले ही रिजर्व बैंक ने नीतिगत दरें बढ़ानी बंद कर दी, लेकिन उसने नकदी बढ़ाने के कोई उपाय नहीं किए।

कारोबार की शुरुआत में सेंसेक्स करीब 150 अंक चढ़ा था, लेकिन दूसरे पहर यह 345.12 अंक की गिरावट के साथ 15,491.35 अंक पर बंद हुआ। इससे पहले, सेंसेक्स ने यह स्तर 3 नवंबर, 2009 को देखा था।

इसी तरह, नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 92.75 अंक टूटकर 4,651.60 अंक पर बंद हुआ। रिजर्व बैंक द्वारा आर्थिक वृद्धि पर चिंता व्यक्त करने के बाद अंतिम कारोबारी सत्र में बिकवाली दबाव हावी हो गया।

बाजार विश्लेषकों ने कहा कि निवेशकों को रिजर्व बैंक द्वारा नकद आरक्षी अनुपात बढ़ाए जाने की उम्मीद थी। रिजर्व बैंक ने अपनी मौद्रिक नीति समीक्षा में कहा कि आर्थिक वृद्धि दर साफ तौर पर घट रही है। इसमें अनिश्चित वैश्विक माहौल, पिछली मौद्रिक नीति के असर और घरेलू नीति को लेकर अनिश्चितताओं की झलक दिखाई देती है।

सेंसेक्स में सबसे अधिक भारांश रखने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 3.43 प्रतिशत, एलएंडटी 5.33 प्रतिशत, एसबीआई 3.67 प्रतिशत और स्टरलाइट 4.28 प्रतिशत टूटकर बंद हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेंसेक्स 345 अंक टूटकर दो साल के निचले स्तर पर