DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेल जाएंगे या जश्न मनाएंगे

सर्वदलीय बैठक के बाद लोकपाल विधेयक के संसद के इस सत्र में पारित होने को लेकर बनी आशंका के बाद अन्ना हजारे ने अपने तेवर फिर कड़े कर लिए हैं। उन्होंने कहा कि लोकपाल विधेयक इसी सत्र में पारित नहीं हुआ तो एक जनवरी से जेल भरो आंदोलन शुरू करेंगे।

साथ ही यह भी कहा कि विधेयक पारित हुआ तो सांसदों को गुलाब भेंट करेंगे और भूख हड़ताल की जगह जश्न मनाएंगे। उधर, सरकार लोकपाल विधेयक के विवादित मुद्दों पर अंतिम राय बनाकर एक-दो दिनों में संसद में पेश करने की तैयारी में है। 

अन्ना ने जेल भरो आंदोलन और 27 दिसंबर से भूख हड़ताल का ऐलान कर सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि सरकार समय की कमी का बहाना नहीं बना सकती। समय कम पड़ता है तो सत्र की अवधि बढ़ानी चाहिए। अन्ना क्या करेंगे यह सरकार और संसद के रुख पर निर्भर करता है। लोकपाल विधेयक पारित नहीं हुआ तो अनशन पर जाएंगे। अनशन कहां होगा यह दिल्ली के मौसम पर निर्भर करता है। 27 दिसंबर तक दिल्ली में ठंड बढ़ती है तो अनशन मुंबई में होगा।

उधर, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने विधेयक में संभावित संशोधनों को मंजूरी देने के लिए रविवार को कैबिनेट की बैठक बुलाई है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि सरकार संशोधनों के साथ विधेयक मंगलवार को लोकसभा में पेश करने की तैयारी कर रही है। रालोद अध्यक्ष अजित सिंह के यूपीए में शामिल होने के बाद सरकार के सदस्यों का आंकड़ा 261 तक ही पहुंचा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जेल जाएंगे या जश्न मनाएंगे