DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ईस्टर्न रीजन पॉवर कमेटी मीट आज से

वरीय संवाददाता पटना। बिहार सहित पांच पूर्वी राज्यों में बिजली आपूर्ति व संचरण व्यवस्था पर शुक्रवार से बोधगया में ईस्टर्न पॉवर रीजन कमेटी की बैठक शुरू होगी। 17 दिसंबर तक चलनेवाली इस मीट में गैर आवंटित कोटे की बिजली पर बिहार सहित सभी पांच पूर्वी राज्यों की दावेदारी पर अहम फैसला हो सकता है।

इस बैठक में बिहार, उड़ीसा, बंगाल, सिक्किम व झारखंड के बिजली बोर्ड व निगम के अध्यक्ष, तकनीकी सदस्य, विद्युत उत्पादन कंपनियों के सीएमडी सहित कई ऊर्जा विशेषज्ञ शिरकत करेंगे। पूर्व क्षेत्रीय विद्युत समिति (ईआरपीसी) की इस बैठक में बिहार की पांच सौ मेगावाट अतिरिक्त बिजली की मांग व फ्यूएल सरचार्ज से हो रही परेशानी पर भी फैसला लिये जाने की संभावना है।

समिति के अध्यक्ष बिहार राज्य विद्युत बोर्ड के अध्यक्ष पीके राय हैं। उनकी अध्यक्षता में होनी वाली ईआरपीसी की बैठक का उद्घाटन राज्य के ऊर्जा मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव करेंगे। राज्य के ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव अजय नायक व बिहार विद्युत विनियामक आयोग के सदस्य आरएन शर्मा भी मौजूद रहेंगे।

बोर्ड के प्रवक्ता हरेराम पांडेय के मुताबिक पहले दिन टेक्निकल कोआर्डिनेशन कमेटी (टीसीसी) की बैठक होगी। बिहार बिजली बोर्ड के ट्रांसमिशन सदस्य टीटी झा इसके अध्यक्ष हैं। इस बैठक में लिये गए फैसले अगले दिन ईआरपीसी की बैठक में पेश किये जाएंगे। बोर्ड सूत्रों के मुताबिक दो दिवसीय बैठक में बिहार की ओर से गैर आवंटित कोटे की बिजली का मुद्दा उठाया जाएगा।

बिहार की ओर से इस संबंध में काफी पहले से मांग की जाती रही कि पूर्वी क्षेत्र में उत्पादित बिजली का पूरा आवंटन पूर्वी राज्यों को ही होना चाहिए। पूर्वी क्षेत्र में कई विद्युत उत्पादन केन्द्र हैं पर इन केन्द्रों में उत्पादित बिजली में बिहार सहित अन्य पूर्वी राज्यों की इसमें काफी कम हिस्सेदारी होती है। बैठक में पूर्वी क्षेत्र में संचरण प्रणाली व उसके ग्रिडों में क्वालिटी सुधार पर भी कई अहम फैसले लिये जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ईस्टर्न रीजन पॉवर कमेटी मीट आज से