DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भ्रष्टाचार रोकने में नाकाम रहेगा लोकायुक्त कानून : कुशवाहा

पटना (हि.ब्यू.)। सांसद और बिहार नवनिर्माण मंच के संयोजक उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि बिहार का ताजा लोकायुक्त कानून न तो राज्यहित में है और न ही जदयू की नीतियों के समान है। गुरुवार को श्री कुशवाहा ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि वर्तमान स्वरूप में लोकायुक्त कानून भ्रष्टाचार को रोकने में नाकाम साबित होगा। इसमें स्वतंत्र और स्वायत्त संस्था बनाने की प्रतिबद्धता का अभाव है।

जदयू से निलंबित सांसद श्री कुशवाहा ने कहा कि नये लोकायुक्त कानून की धारा 26 (1) के अनुसार मुख्यमंत्री, मंत्री और उच्चाधिकारियों के खिलाफ जांच के लिए सरकार से अनुमति लेनी होगी। अब सवाल यह उठता है कि सरकार के मुखिया होने के नाते कोई मुख्यमंत्री भला अपने ही खिलाफ जांच की अनुमति कैसे और क्यों देगा?

उन्होंने राज्य सरकार को कर्नाटक और उत्तराखण्ड के कानून का अनुकरण और हाईकोर्ट के अवकाश प्राप्त न्यायाधीश को ही लोकायुक्त संस्था का अध्यक्ष बनाने की सलाह देकर इसमें दलित, पिछड़ा, अल्पसंख्यक और महिलाओं को स्थान देने की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भ्रष्टाचार रोकने में नाकाम रहेगा लोकायुक्त कानून : कुशवाहा