DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईसीएमआर आयोजित करेगा विशेष कार्यक्रम

चिकित्सा जगत से जुड़े लोग स्टेम सेल को रामबाण की संज्ञा दे रहे हैं, जिससे हर मर्ज का इलाज किया जा सकेगा। दिल, दिमाग, किडनी, लिवर और डायबिटिज के इलाज की उम्मीद भी स्टेम सेल के इस्तेमाल से ही बंधी है। लेकिन आम इंसान को स्टेम सेल के बारे में अब भी समझ कम हैं। इलाज की इस आधुनिक विधि के बारे में लोगों को जागरूक करने के भारतीय आयुर्विज्ञान अनुंधान परिषद एक पब्लिक फोरम का आयोजन कर रहा है। जिससे स्टेम सेल से जुड़ी विभिन्न भ्रांतियों का समाधान किया जा सकेगा।

17 दिसंबर को लोधी रोड स्थित चिन्मय मिशन ऑडिटोरियम में पहली बार चिकित्सा क्षेत्र के किसी पहलू पर आम लोगों की राय जुटाने का प्रयास किया गया है। स्टेम सेल के इस्तेमाल को लेकर आईसीएमआर ने हालांकि वर्ष 2007 में पहली बार गाइडलाइन जारी की थी, जिसके अनुसार देश भर में स्टेम सेल का बीमारियों के इलाज में प्रयोग किया जा रहा है। लेकिन सेल के महत्व को देखते हुए स्टेम सेल एक्ट का ड्राफ्ट भी तैयार किया गया है। जिससे गलत ढंग से स्टेम सेल का इस्तेमाल करने वाले लोगों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जा सके। आईसीमआर के पब्लिक फोरम से प्राप्त प्रश्न और उनके जवाब को ड्राफ्ट में शामिल किया जाएगा। कार्यक्रम में भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के निदेशक डॉ. विश्व मोहन कटोच सहित स्टेम सेल विशेषज्ञ डॉ. एमके भान, डॉ. वशंता मुत्तुस्वामी, मुंबई स्थित फर्टिलिटी रिसर्च केन्द्र के डॉ. के घोष सहित जाने माने विशेषज्ञ उपस्थित होंगे। सुबह 10.30 बजे से लेकर शाम 4.00 बजे तक जागरूकता शिविर में शामिल हो सकते हैं।

क्या हैं स्टेम सेल्स
जन्म के समय मां से बच्चे को अलग करने वाली कार्ड ब्लड को स्टेम सेल का बेहतर स्त्रोत माना जाता है। जिसे गर्भनाल भी कहते हैं कई निजी फार्मा कंपनियां कार्ड ब्लड संरक्षण के क्षेत्र में काम कर रही हैं, कार्ड ब्लड को संरक्षित कर इसे जरूरत पड़ने पर बच्चे या फिर उसके भाई बहन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा स्टेम सेल्स अस्थि मज्जा की आर्थोलोबस हड्डी में भी बनती है। यह वह सेल्स हैं जिसमें अपने तरह की कई अन्य स्वस्थ सेल्स बनानी की क्षमता होती है। शरीर की किसी भी भाग की क्षतिग्रस्त सेल्स की जगह स्टेम सेल्स को प्रत्यारोपित कर उन्हें स्वस्थ्य किया जा सकता है। इन्हीं सेल्स की मदद से अंगों के पुन:निर्माण, दिल व गुर्दे की बीमारियों के इलाज पर काम किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईसीएमआर आयोजित करेगा विशेष कार्यक्रम