DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खर्चीली हैं आप या फिर कंजूस?

एक नया सर्वे यह दावा कर रहा है कि महिलाएं अपनी जिंदगी के आठ साल शॉपिंग में बिताती हैं। पर क्या यह दावा करना पैसे से जुड़ी आपकी सही पर्सनैलिटी को उभारता है? क्या आप दिल खोल कर पैसे खर्च करती हैं या आप कंजूस हैं? इन सवालों का जवाब दीजिए और जानिए अपनी पर्सनैलिटी के इस नए आयाम क :-

-आपके सभी सहकर्मी टीम के किसी सदस्य की फेयरवेल पार्टी के लिए 200-200 रुपये दे रहे हैं। आप..

1.पैसे देने से मना कर देती हैं। आप नई ड्रेस के लिए पैसे बचा रही हैं और 200 रुपए खर्च करने से आपका बजट बिगड़ जाएगा।
2.आप खुद से ही गिफ्ट खरीदकर दे देंगी और टीम के दूसरे सदस्यों से उनके हिस्से का पैसा मांगेंगी भी नहीं।
3. तुरंत 200 रुपए दे देंगी।

- जब आपको अपनी पहली सैलरी मिली थी, तो आपने उन पैसों का क्या किया था?

1. पैसे को संभाल कर रख दिया था और बिल्कुल खर्च नहीं किया।
2. अपने दोस्तों को पार्टी दी थी।
3. थोड़ी-बहुत शॉपिंग की थी, फिर अपने परिवार को बाहर खाना खिलाने ले गईं और बचे हुए पैसों को संभाल कर रख लिया।

- आप अपनी कॉलेज जाने वाली छोटी बहन के साथ शॉपिंग के लिए जाती हैं, तभी उसे कोई चीज पसंद आ जाती है..
1. आप उसे पैसे बचाने की सलाह देती हैं ताकि वह दो माह में अपनी मनपसंद चीज खरीद सके।
2. उसके लिए उसकी पसंदीदा चीज के अलावा एक दजर्न और सामान खरीदकर बिल चुकाने के लिए काउंटर पर पहुंच जाती हैं।
3. आप उसके लिए उसकी पसंदीदा चीज खरीद देती हैं।

- अपने पति के लिए आपका परफेक्ट बर्थडे गिफ्ट क्या होगा?

1. एक बर्थडे कार्ड, जिस पर यह लिखा हो कि आप उन्हें कितना प्यार करती हैं।
2. उनके मनपसंद जगह पर लंबी छुट्टी।
3. पति के मनपसंद फिल्म या शो का टिकट, उनका फेवरेट गैजेट जैसे लैपटॉप या फिर मोबाइल फोन या हेल्थ क्लब की सदस्यता।

-  रेस्टोरेंट में वेटर बिल लेकर आता है। आप..
1. सिर्फ अपने बिल के पैसे रख देती हैं और टिप देना भूल जाती हैं।
2. बिल से दोगुना पैसा रख देती है। आखिर वेटर इतनी ज्यादा मेहनत करता है।
3. बिल के अलावा 10 से 15 प्रतिशत तक टिप भी रख देती हैं।

जवाब : अगर आपका अधिकांश जवाब (1) है, तो आप अव्वल दर्जे की कंजूस है और सिर्फ खुद पर पैसे खर्च करने से पहले दोबारा नहीं सोचती हैं। अगर आपका अधिकांश जवाब (2) है, तो पैसों को लेकर आपका रवैया ठीक नहीं है। इतना ज्यादा खर्च न करें, बल्कि बचत  के बारे में भी सोचें। अगर आपका अधिकांश जवाब (3) है, तो मनी मैनेजमेंट में आपको महारत हासिल है। आपको मालूम है कि कहां पैसों को खर्च करना चाहिए और कहां नहीं।

कैसी है आपकी मनी पर्सनैलिटी
अन्य चीजों की तरह आप पैसे का इस्तेमाल कैसे करती हैं, यह काफी हद तक आपकी पर्सनैलिटी पर निर्भर करता है। अपनी मनी पर्सनैलिटी को समझकर आप अपने खर्च और बचत से जुड़ी आदतों में आसानी से बदलाव ला सकती हैं। मनी पर्सनैलिटी को भरपूर खर्च करने वाले, बचत करने वाले, ढेर सारी शॉपिंग करने वाले, हमेशा कर्ज में रहने वाले और हमेशा निवेश करने वालों की श्रेणी में बांटा गया है।

अगर एक बार आप अपनी मनी पर्सनैलिटी पहचान लें तो आसानी से अपनी निवेश और बचत की आदतों में सुधार ला सकेंगी। मसलन अगर आप खुद को भरपूर खर्च करने वालों की श्रेणी में रखती हैं तो खरीदारी से पहले उस सामान के फायदे के बारे में सोचना शुरू कर दें । अगर यह ज्यादा जरूरी लगे, तभी उस सामान को खरीदें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खर्चीली हैं आप या फिर कंजूस?