DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वास्थ्य विभाग ने 250 अस्पतालों को भेजा नोटिस

गाजियाबाद। कार्यालय संवाददाता। बेसमेंट में ओपीडी और आग बुझाने के साधनों को लेकर यशोदा, पन्नालाल श्यामलाल, सवरेदय जैसे बड़े अस्पताल ही नहीं बल्कि जिले के 250 अस्पतालों के खिलाफ प्रशासन ने कड़ा रुख अपना लिया है। स्वास्थ्य विभाग के अपने यहां रजिस्ट्रर्ड सभी अस्पतालों को नोटिस भेज दिया है। अब इन अस्पतालों को केवल बेसमेंट के लिए ही नहीं बल्कि तीन मुद्दों को लेकर शपथ पत्र देना होगा। कोलकाता के निजी अस्पताल में लगी आग के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी अस्पतालों पर शिकंजा कस दिया है। इसके बाद नर्सिग होम एसोसिएशन से जिला प्रशासन से गुहार लगाई है। डीएम ने सीएमओ से इस मामले की आख्या मांगी है। सूत्रों की मानें तो जल्द ही अधिकारियों के साथ अस्पताल संचालकों की बैठक होनी है।

डीएम ने इस मामले में एडीएम सिटी अटल कुमार राय को जिम्मेदारी दी है। वहीं, पन्नालाल श्यामलाल अस्पताल के मालिक डॉ. मनीष मिश्रा का कहना है कि उनका अस्पताल सड़क से आठ फिट ऊंचा बना है। उनके बेसमेंट सड़क से केवल दो फिट नीचे है। उसके साथ यहां आवागमन के उचित साधन है। वहीं यशोदा अस्पताल के एमडी पीएन अरोरा का कहना है कि उनकी ओपीडी का फर्श व सड़क का लेबल समान है। बावजूद इसके जो भी नियम लागू किए जाएंगे उन पर अमल होगा।नर्सिग होम एसोसिएशन की बैठक एक निजी अस्पताल के हॉल में हुई बैठक में नर्सिग होम संचालकों ने कोलकाता अस्पताल में हुई घटना में मारे गए लोगों को श्रृद्धांजलि दी।

बैठक में सभी अस्पतालों को आग से बचाव के लिए उचित प्रबंध करने निर्देश दिए गए। एसोसिएशन के पदाधिकारी डॉ. सत्यवीर सिंह के मुताबिक बेसमेंट को लेकर अभी उनके पास तक नोटिस नहीं आए हैं। नोटिस आने के बाद इसका उचित जवाब दिया जाएगा। किन मुद्दों पर दिया गया नोटिस1-अस्पताल में आग बुझाने के क्या साधन हैं। इसके लिए एक माह के भीतर अग्निशमन विभाग की एनओसी प्रस्तुत की जाए। 2- अस्पताल में बेसमेंट में चल रही ओपडी को तुरंत बंद किया जाए। इसकी व्यवस्था की रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। 3-अस्पताल में कोई सरकारी डॉक्टर प्रैक्टिस तो नहीं कर रहा है इसका शपथ पत्र दाखिल किया जाय।

अस्पतालों का रज्रिटेशन स्वास्थ्य विभाग की ओर से किया गया है। अस्पताल के बायलॉज में बेसमेंट केवल पार्किग व स्टोर रूम के लिए निर्धारित है। इसमें ओपीडी चलाना नियमों के विरुद्ध है। अब सभी अस्पतालों को ओपीडी को बेसमेंट से बाहर करना होगा। डॉ. अजेय अग्रवाल, सीएमओ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वास्थ्य विभाग ने 250 अस्पतालों को भेजा नोटिस