DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाहरी दिल्ली में खूनी नहर के नाम से जाने वाली बवाना नहर में बुधवार की दोपहर एक और कार जा गिरी। कार में दिल्ली पुलिस के एक पुलिसकर्मी अपनी पत्नी के साथ सोनीपत से दिल्ली आ रहे थे। मौके पर मौजूद लोगों ने समय रहते दोनों को नहर से बाहर निकाल लिया, जिससे उनकी जान बच गई। इससे पहले नहर में आधा दर्जन से अधिक गाड़ियां गिर चुकी है और 10 से अधिक लोग अपनी जान गवां चुके हैं। 

पुलिस के अनुसार सतीश कुमार (40) अपने परिवार के साथ पश्चिम विहार में रहते हैं। वह दिल्ली पुलिस के यातायात विभाग में तैनात हैं। वह अपनी पत्नी सरिता के साथ सोनीपत में किसी रिश्तेदार से मिलने गए हुए थे। बुधवार की दोपहर दंपती वापस अपने घर लौट रहे थे। दोपहर 12.30 बजे जब उनकी कार बवाना नहर के पास पहुंची तो अचानक गाड़ी का संतुलन बिगड़ गया। गाड़ी सीधे नहर में जा गिरी। हादसे के समय वहां मौजूद लोगों ने तुरंत दोनों को बचाने के लिए नहर में छलांग लगाई। उन्होंने दोनों को तुरंत कार का गेट खोलकर बाहर निकाल लिया। घटना की जानकारी मिलने पर स्थानीय पुलिस के अलावा दमकल विभाग की गाड़ी भी मौके पर पहुंची। दंपती को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया गया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खूनी नहर में कार गिरी लेकिन जान बची