DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां उड़ीं

प्लास्टिक पाउच पर सुप्रीम कोर्ट के प्रतिबंध के बावजूद गुटखा इंडस्ट्री में प्लास्टिक पैकिंग बदस्तूर जारी है। ट्रांसपोर्ट नगर की गुटखा फैक्टरी में एक्साइज विभाग ने रंगे हाथों लाखों प्लास्टिक पाउच बरामद कर सील कर दिए। आगे की कार्रवाई के लिए सैम्पल प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भेजे गए हैं। विभाग का कहना है कि मौके से प्लास्टिक पैकिंग बरामद होने के बावजूद प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड कुछ नहीं करता।

बुधवार को नियमित सर्वे में एक्साइज विभाग की टीम ट्रांसपोर्ट नगर स्थित मां विन्ध्यवासिनी कंपनी की फैक्टरी पहुंची। कंपनी के प्रोपराइटर अनूप साहू हैं। यह कंपनी मधु ब्रांड खैनी और गुटखा बनाती है। टीम को फैक्टरी में गुटखे की 11 और एक खैनी की मशीन चलती मिली। मशीनों की संख्या तो ठीक थी लेकिन उनमें गुटखे के प्लास्टिक पाउच तैयार किए जा रहे थे। सुप्रीम कोर्ट के फरमान की खुलेआम धज्जियां उड़ते देख अधिकारी हैरान रह गए।

एडीशनल कमिश्नर एक्साइज प्रदीप कटियार ने बताया कि मौके पर मल्टीलेयर पैकेजिंग में भरे गुटखे के 2 लाख 44 हजार 30 पाउच पकड़े गए। गुटखे की प्लास्टिक पैंकिंग का माल बिहार भेजा जा रहा था। इससे पहले पान पराग की यूनिट से मल्टीलेयर पैकेजिंग के रोल मिले थे। आगरा में प्रेम प्रोडक्ट्स की फैक्टरी से भी रंगे हाथों गुटखे के प्लास्टिक पाउच बरामद किए गए थे। एक्साइज विभाग का कहना है कि प्लास्टिक पैकिंग में कार्रवाई का अधिकार प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पास है लेकिन रंगे हाथों पकड़ने के सबूत देने के बावजूद बोर्ड ने आज तक किसी मामले में कोई कार्रवाई नहीं की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां उड़ीं