DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संसद हमले की दसवीं बरसी पर निकाला गया कैंडिल मार्च

मैनपुरी। दिल्ली में संसद पर दस साल पूर्व हुये आंतकी हमले में शहीद हुए जवानों की शहादत को याद करते हुए एक कैंडिल मार्च राधारमन रोड पर निकाला गया। कैंडिल मार्च निकाल रहे पाल समाज के लोगों ने संसद हमले के दोषियों को फांसी देने की मांग की। इन लोगों को कहना था कि सरकार लोकतंत्र के पवित्र मंदिर संसद में हमला करने वाले दोषियों को सजा दे।

इस मौके पर पाल समाज के युवाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। हाथों में कैंडल लेकर इन युवाओं ने भांवत चौराहे से लेकर ईशन नदी तिराहे तक कैं डिल मार्च निकाला। संसद हमले के दौरान शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इस मौके पर रणवीर पाल का कहना था कि आतंकवादी हमेशा भारत की अखंडता और एकता के लिए खतरा बने रहेंगे।

इसलिए सरकार को चाहिए कि आतंकवाद और आतंकवाद का समर्थन करने वाले देशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। देश की जेलों में बंद आतंकवादियों को फांसी दी जाये। शत्रुधन पाल का कहना था कि जवान अपनी जान पर खेलकर देश की रक्षा करते हैं लेकिन राजनीति की चलते शहीदों की जान लेने वाले आतंकवादियों को जेलों में अच्छा खाना और सुविधाऐं दी जाती हैं जिससे आतंकवादियों के हौसले बढ़ते हैं।

रजनेश पाल का कहना था कि आतंकवादी इस तरह की घटनाओं को अंजाम देकर देश को कमजोर करना चाहते हैं लेकिन देश की जनता मौका आने पर बता देगी कि भारत पर जो तिरछी नजर रखेगा उसे कड़ा सबक सिखाएगा। अनुज पाल ने बताया कि आतंकवादी देश को किसी भी सूरत में कमजोर नहीं कर पाऐंगे। मौका आने पर देश की जनता जान पर खेलकर देश को बचाएगी। कैंडल मार्च में अमित, किशोरी, संदीप, कुलदीप, अमन पाल, रमन, विकास, दीपक, विपिन पाल आदि लोग मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संसद हमले की दसवीं बरसी पर निकाला गया कैंडिल मार्च