DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजाब, चंडीगढ़ में कॉलेज शिक्षकों की फिर हड़ताल

पंजाब और चंडीगढ़ में सोमवार को निजी कॉलेजों के शिक्षक एक बार फिर से तीन दिवसीय हड़ताल पर चले गए। अपनी मांगों के क्रियान्वयन में राज्य सरकार की असफलता के चलते ये शिक्षक नाराज हैं। पेंशन और ग्रेच्युटी स्कीम को लागू करना शिक्षकों की प्रमुख मांगों में शामिल है।

इस हड़ताल में निजी कॉलेजों के शिक्षकों के साथ-साथ कॉलेज प्रबंधन और गैर-शिक्षण कर्मचारी भी शामिल हैं। गैर-सरकारी महाविद्यालय प्रबंधन परिसंघ, महाविद्यालय प्रधानाचार्य संघों के परिसंघ, पंजाब और चंडीगढ़ कॉलेज शिक्षक संघ (पीसीसीटीयू) और पंजाब के गैर-शिक्षण कर्मचारी परिसंघ की संयुक्त कार्रवाई समिति द्वारा इस हड़ताल का आहवान किया गया है।

दिसम्बर माह में परीक्षा में बैठने वाले लगभग 170 निजी कॉलेजों के हजारों विद्यार्थियों को हड़ताल का सबसे ज्यादा खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। कॉलेज प्रबंधन ने हड़ताल जारी रहने तक 13, 14 और 15 दिसम्बर को आयोजित होने वाली परिक्षाओं को स्थगित कर दिया है।

पीसीसीटीयू के अध्यक्ष जगवंत सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार गैर-सरकारी शिक्षकों के लिए पेंशन और ग्रेच्युटी के सम्बंध में दिसम्बर 2001 में जारी अधिसूचना को लागू करने में विफल रही है। पंजाब ही मात्र एक ऐसा राज्य है, जहां कॉलेज शिक्षकों के लिए पेंशन और ग्रेच्युटी स्कीम नहीं है।

मांगों में नई भर्तियों से प्रतिबंध हटाना और सरकारी कॉलेजों में काम करने वाले शिक्षकों से बराबरी के आधार पर संशोधित वेतनमान का कार्यान्वयन भी शामिल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंजाब, चंडीगढ़ में कॉलेज शिक्षकों की फिर हड़ताल