DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनिया के 50 फीसदी हृदय रोगी भारत में

सरकार ने मंगलवार को कहा कि दुनिया में 50 फीसदी हृदय रोगी भारत में हैं और वर्ष 2015 तक संभावित हृदय रोगों के 6.4 करोड़ मामलों में से करीब 6.1 करोड़ मामले हृदय धमनी रोगों के होंगे।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री गुलाम नबी आजाद ने बताया कि एक रिपोर्ट के अनुसार 2015 में हृदय रोगियों की संख्या 6.4 करोड़ हो सकती है, जिनमें से 6.1 करोड़ रोगी हृदय धमनी रोगों के होंगे।

आजाद ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अनुमान लगाया है कि 2010 तक पूरे विश्व के हृदय रोगियों में से 60 फीसदी भारत में होंगे। उन्होंने बताया कि केंद्र ने 21 राज्यों के 100 जिलों में कैंसर, मधुमेह, हृदय रोग एवं आघात का नियंत्रण एवं रोकथाम कार्यक्रम शुरू किया है।

आजाद के अनुसार दिल्ली में हृदयरोगियों का इलाज एम्स, सफदरजंग अस्पताल, राम मनोहर लोहिया अस्पताल और गोविंद वल्लभ पंत अस्पताल में होता है। उन्होंने बताया कि मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए माध्यम के रूप में क्षेत्रीय भाषाओं के प्रयोग से कोई रोक नहीं है।

एक अन्य सवाल के लिखित जवाब मे आजाद ने बताया कि उच्चतम न्यायालय ने देश में स्नातक पूर्व और स्नातकोत्तर चिकित्सा पाठयक्रमों में प्रवेश के लिए कॉमन प्रवेश परीक्षा अर्थात राष्ट्रीय पात्रता और प्रवेश परीक्षा के लिए भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दुनिया के 50 फीसदी हृदय रोगी भारत में