DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एमबीए की एक राह यह भी

एमबीए प्रोफेशनल्स बन कर ऊंचा पद हासिल करने का सपना हर छात्र का होता है। उनका यह सपना कैट, मैट, एनमैट आदि कई राहों से होकर पूरा होता है। इन्हीं में से एक महत्वपूर्ण परीक्षा जैट (जेवियर एप्टीटयूड टेस्ट) भी है। जैट का आयोजन एक्सएलआरआई (जेवियर लेबर रिसर्च इंस्टीटय़ूट) जमशेदपुर द्वारा किया जाता है।


इसके तहत कुल 60 बिजनेस स्कूलों को शामिल किया गया है। कैट के बाद आयोजित होने वाली यह सबसे महत्वपूर्ण परीक्षा है, लेकिन इसका स्वरूप कैट से बिल्कुल भिन्न है। इसका कटऑफ 91-92 परसेंटाइल अथवा उसके ऊपर तक पहुंचता है। जैट के स्कोर की वेलिडिटी उस साल के एकेडमिक ईयर के लिए ही होती है। इस साल जैट ने अपनी परीक्षा में कुछ बदलाव करते हुए ह्यूमेनिटीज व नॉन इंजीनियरिंग छात्रों को आकर्षित करने का प्रयास किया है। जिन छात्रों ने जैट 2012 में रजिस्ट्रेशन कराया है, उनके लिए अब अलर्ट होने का समय आ गया है, क्योंकि परीक्षा 8 जनवरी 2012 को 32 सेंटरों पर होनी निश्चित है तथा उनके पास एक महीने से भी कम का समय शेष है।

परीक्षा के तीन सेक्शन
जैट में कुल तीन सेक्शनों से लगभग 200 प्रश्न पूछे जा सकते हैं। हालांकि यह संख्या घट अथवा बढ़ भी सकती है। इसके लिए 120 मिनट (दो घंटे) का समय निर्धारित किया गया है। प्रत्येक प्रश्न के लिए एक अंक निर्धारित है। प्रश्न ऑब्जेक्टिव होते हैं। इन सबके अलावा एक चौथा सेक्शन एस्से राइटिंग का भी होता है। इसके लिए कुल 40 अंक तथा 20 मिनट का समय तय है। परीक्षा के तीन सेक्शन निम्न हैं-
- जनरल अवेयरनेस
- इंग्लिश यूजेज एंड रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन
- मैथमेटिक्स एंड डाटा इंटरप्रिटेशन

सर्वप्रथम पाठय़क्रम को परख लें
जैट परीक्षा में बैठने वाले छात्रों का पहला काम अपने पाठय़क्रम को अच्छी तरह से समझना होता है। इसके बाद तैयारी आरम्भ करते हैं तो भटकाव जैसी स्थिति सामने नहीं आएगी। इस क्रम में यह भी देख सकते हैं कि किस टॉपिक से पिछले तीन-चार सालों में कितने अधिक तथा किस तरह के प्रश्न पूछे गए हैं। पाठय़क्रम को अच्छे से समझ लेने के बाद प्रत्येक सेक्शन के लिए टाइम मैनेजमेंट करें। जो टॉपिक पढ़ें, उसे उसी दिन खत्म करने का भी प्रावधान रखें।

जनरल अवेयरनेस का विस्तृत दायरा
जनरल अवेयरनेस में ज्योग्राफी, साइंस, संविधान, इतिहास, मैनेजमेंट, राजनीतिक विज्ञान आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इन सारे विषयों को मिला कर देखा जाए तो इस सेक्शन का दायरा काफी बड़ा हो जाता है। इसके लिए छात्रों को विशेष रणनीति बनाने की जरूरत है। उपरोक्त विषयों के अध्ययन के लिए एनसीईआरटी की पुस्तकें कारगर होती हैं। इसके अलावा यह भी देख लें कि इस सेक्शन में पिछले कुछ सालों में कैसे प्रश्न पूछे गए हैं।

ग्रामर व पजल्स पर विशेष निगाह
इंग्लिश लेंग्वेज के प्रश्न ज्यादातर ग्रामर बेस्ड होते हैं। इनमें सिनोनिम्स, वोकेबुलरी, एंटानिम्स, पैरा फॉर्मेशन, फिल इन द ब्लैंक्स व पैसेज आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके लिए इंग्लिश पर अच्छी पकड़ आवश्यक है। समाचार पत्र व पत्रिकाओं का नियमित अध्ययन व उस दौरान नए-नए शब्दों के विषय में जानकारी आपके कौशल को और बढ़ा सकती है। इंग्लिश लेंग्वेज के सेक्शन में रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन का सेक्शन भी शामिल है। इसमें ज्यादातर पजल्स, डिसीजन मेकिंग, एनालॉगिज, लॉजिकल एबिलिटी के प्रश्न पूछे जाते हैं।

मैथ्स हो सकता है स्कोरिंग
मैथमेटिकल (क्वांटिटेटिव एबिलिटी) व डाटा इंटरप्रिटेशन के सेक्शन में प्रोबेबिलिटी, फंक्शन, डीआई (टेबल व पाई चार्ट), सीरिज, रीजनिंग सहित अर्थमेटिक के साधारण प्रश्न आते हैं। मैथ्स के प्रश्न ज्यादातर दसवीं व बारहवीं पर ही आधारित होते हैं। इनकी रेगुलर प्रैक्टिस करें तथा फॉर्मूला समझने का प्रयास करें। पाई-चार्ट पर भी अपना ध्यान फोकस करें, क्योंकि इस सेक्शन को रट्टा मार कर नहीं हल किया जा सकता।

एस्से लिखने का भी हो अभ्यास
उपरोक्त तीन सेक्शनों की तैयारी करने के साथ-साथ एस्से लिखने की भी कोशिश आरंभ कर दें। इसमें 300-350 शब्दों का एक एस्से और वह भी 20 मिनट में लिखना होता है। पूछे जाने वाले एस्से ज्यादातर करेंट इश्यू पर ही होते हैं। इसमें छात्र के विचारों की प्रवाहता, विषय विशेष पर उसका ज्ञान और लिखने का कौशल आदि परखा जाता है। इस सेक्शन का उत्तर छात्रों को सबसे अंतिम में देना होता है।

निगेटिव मार्किग का अलग फंडा
जैट परीक्षा में निगेटिव मार्किग का प्रावधान है, लेकिन यह डिफरेंशियल फॉर्म में होता है। अर्थात एक से छह तक गलत उत्तर देने पर एक चौथाई अंक काटे जाएंगे, जबकि छह से आगे गलत उत्तर होने पर आधा अंक काट लिया जाएगा। इसलिए छात्र प्रश्नों का उत्तर देते समय पूरी सावधानी बरतें। जिन प्रश्नों को लेकर दुविधा है, उन्हें छोड़ कर आगे बढ़ जाएं। बाद में समय मिलने पर उन्हें हल करने की कोशिश करें।

तैयारी के फोकस पॉइंट
- अंग्रेजी में एस्से लिखने का अभ्यास करें
- अंतिम दस दिनों में सिर्फ दोहराने पर ध्यान दें
- मैथ्स की रेगुलर प्रैक्टिस करें
- निगेटिव मार्किग से सावधान रहें
- प्रमाणिक स्टडी मेटीरियल का ही सहारा लें

सेक्शन    प्रश्नों की संख्या    समय
इंग्लिश लेंग्वेज/  80                40 मिनट
आरसी  
मैथमेटिक्स/        60                40 मिनट
डीआई   
जनरल अवेयरने 60                40 मिनट
एस्से राइटिंग      01               20 मिनट

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एमबीए की एक राह यह भी