DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

समय रहते जागें
सरकारी एजेंसी हॉस्पिटल स्ट्रक्चर कंस्ट्रक्शन कंपनी के अस्पताल भवनों के लिए गाइडलाइन हैं कि बेसमेंट में ओपीडी वगैरह तो नहीं ही हो सकते, पार्किंग की जगह भी नहीं हो सकती। इन्हें कोई नहीं मान रहा, यह तो सब देख रहे। अब कोलकाता के एएमआरआई अस्पताल अग्निकांड का सबक यह है कि नए बन रहे अस्पतालों को अनुमति देने समय ही इस पर सख्ती रहे। जो अस्पताल चल रहे हैं, वहां बेसमेंट से सब तामझाम हटाए जाएं, यह भी जरूरी है। जहां हटाया जाना नामुमकिन हो, वहां आग-धुएं-गैस वगैरह से बचाव के फूलप्रूफ इंतजाम हो गए हैं या नहीं, इन पर निगाह रखना जरूरी है। ऐसा नहीं कि हम सुस्त हो जाएं और नया कुछ हो जाए, तो फिर फाइलें पलटने लगें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक