DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेंटिंग करो खुश रहो

पेंटिंग करो खुश रहो

तुम्हारे सभी दोस्तों को कलर करना बहुत पसंद होगा। तुम्हें भी तो है। हाथ में पेंसिल या पेन लेते ही उसे घिसना शुरू कर देता हो और घर की दीवारों, किताबों, अलमारी हर जगह को रंगे बिना नहीं छोड़ते। चारों तरफ घर की दीवारों पर कलर ही कलर।

पेंटिंग करना अच्छी बात है, लेकिन इसे सही तरीके से करके ही तुम अच्छे पेंटर बन सकते हो। मोनालीसा की पेंटिंग के बारे में तो तुमने सुना ही होगा। एक जीवंत लड़की की तस्वीर लगती है ना। वह पेंटिंग लिएंडरो दी विंसी नाम के एक इटेलियन कलाकार ने बनाई थी, जिसकी चर्चा पूरे विश्व में हुई थी। तुम भी उन्हीं की तरह बनना चाहते हो तो पहले पेंटिंग के बारे में जानो।

पेंटिंग कई तरह की हो सकती है-

फिंगर पेंटिंग - इसमें अपनी फिंगर को कलर से डुबोकर कई तरह के आकार बना सकते हो।
थम्ब पेंटिंग - अपने अंगूठे को कलर में डालकर उससे भी पेंटिंग कर सकते हो।
हैंड पेंटिंग - हथेली को कलर में डुबोकर उससे भी पेंटिंग की जा सकती है।
वबल पेंटिंग, स्ट्रा पेंटिंग, मिरन इमेज पेंटिंग, स्प्रे पेंटिंग, क्रयोन पेंटिंग आदि अनेक प्रकार की पेंटिंग होती हैं।
ये तो हुई पेंटिंग की बात, अब जानो कि कितने तरह के होते हैं कलर -

वॉटर कलर
ये सस्ते होते हैं और भरने में भी आसान। ये कलर पतले होते हैं। ये पेपर पर प्रयोग करने के ही काम आते हैं। ज्यादातर बच्चे वॉटर कलर का प्रयोग करते हैं। ये फिंगर पेंटिंग के भी काम आते हैं। आसानी से हाथों और कपड़ों से हट जाते हैं।

एक्रिलिक्स
इनसे काम करना आसान होता है। ये वॉटर कलर से गाढ़े होते हैं। गाढ़े होने के कारण ये आसानी से किसी कलर में मिल जाते हैं और कलर करने में भी आसानी होती है। ये फैलते नहीं हैं, जल्दी सूख जाते हैं। ये प्लास्टिक की तरह दिखते हैं।

ऑयल
ये सबसे गाढ़े होते हैं और आसानी से भरे जा सकते हैं।
इनको सूखने में कई दिन लग जाते हैं तथा इन कलर के साथ घंटों काम कर सकते हैं और जो मर्जी फॉर्म और टेक्स्चर दे सकते हैं। ये सबसे महंगे होते हैं। इनको पानी से साफ नहीं किया जा सकता है।

इनका विज्ञान और गणित
कलर को मिलाकर देखते हैं। उसकी थिकनेस और टेक्स्चर को समझते हैं। रंगों के भेद को समझते हैं और अलग-अलग आकार को भरते हैं। उनकी वॉल्यूम, आकार के बारे में भी जानते हैं। इस प्रकार पेंटिंग कई प्रकार से और फायदे की होती है। पेंटिंग करना तुम्हारे विकास में सहायक होती है। बचपन में मोम कलर से लेकर वॉटर कलर, ऑयल्स कलर का प्रयोग करना और जीवन में रंग भरना मशहूर पेंटर एम.एफ. हुसैन की तरह पेंटर बना सकता है।

पेंटिंग करने के ये हैं फायदे
तुम्हारी क्रिएटिविटी बढ़ती है।
भाषा और सामाजिक विकास होता है।
तुम अपने सामान को शेयर करना, विभिन्न रंगों को मिलाना, उनके  बारे में जानना, दूसरे बच्चों से बात करना और अपने विचारों को पेंटिंग के जरिए दिखाना सीखते हो।

शारीरिक फायदे
हाथों और आंखों के तालमेल को पेंटिंग सही रखती है। बैद्धिक क्षमता को बढ़ाती है। बड़ी मसल्स को छोटे आकार में संयम से इस्तेमाल करना सिखाती है। इसे कहते हैं अपनी मोटर स्किल्स का प्रयोग करना।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेंटिंग करो खुश रहो