DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेता टिकट में जुटे, बढ़ाना पड़ा भाजपा लाओ अभियान

 विशेष संवाददाता लखनऊ। यूपी के बड़े भाजपा नेता टिकट तय करने के लिए दिल्ली में जुटे तो कार्यकर्ता पैरवी में। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी ने ‘प्रदेश बचाओ, भाजपा लाओ’ अभियान को 31 दिसम्बर तक के लिए बढ़ा दिया है। तय हुआ है कि अभियान में और जोर लगाकर युवाओं के बीच ज्यादा पहुंचा जाएगा। इसी अभियान के बीच 25 दिसम्बर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के जन्मदिन को ‘राष्ट्रीय सुशासन दिवस’ के रूप में मनाने की भी तैयारियां हैं।

इस सिलसिले में लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी के भाग लेने की उम्मीद है।‘प्रदेश बचाओ, भाजपा लाओ ’अभियान 15 दिसम्बर तक चलाने की योजना बनाई गई थी। इसमें हर विधानसभा क्षेत्र में प्रदेश से लेकर जिला स्तरीय नेताओं की सभाएं करने की योजना है। पर सूत्रों का कहना है कि पार्टी में टिकटों को लेकर चल रहे विचार-विमर्श के कारण तमाम जगहों पर सभाओं का आयोजन करने में दिक्कत आ रही है। पार्टी के अधिकांश बड़े नेता दिल्ली में ही हैं और बैठकों के दौर चलाकर टिकट तय करने में जुटे हुए हैं।

तो अन्य नेता और कार्यकर्ता भी अपनी पैरवी के लिए दिल्ली में ही चक्कर लगा रहे हैं। ऐसी स्थिति में इस अभियान का पूरा बोझ युवा, महिला, अनुसूचित जाति तथा पिछड़ा वर्ग मोर्चा पर आ गया है। इसे देखते हुए ही अभियान का समय बढ़ाया गया है।‘प्रदेश बचाओ, भाजपा लाओ’ अभियान के लिए अवध क्षेत्र के संयोजक व भाजपा अनुसूचित मोर्चा के राष्ट्रीय पदाधिकारी दिवाकर सेठ ने कहा कि अभियान में युवाओं को जोड़ने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। भाजपा के प्रदेश महासचिव विन्ध्यवासिनी कुमार ने कहा कि ‘प्रदेश बचाओ, भाजपा लाओ’ अभियान प्रदेश के स्वाभिमान से जुड़ा है। इसलिए यह चलता ही रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नेता टिकट में जुटे, बढ़ाना पड़ा भाजपा लाओ अभियान