DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अन्ना ने जनभावना का कर दिया राजनीतिकरण

बस्ती। निज संवाददाता‘। अन्ना ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर आम जनभावना का राजनीतिकरण कर दिया है। अन्ना ने जिस तरह आज भाजपा और अन्य दलों के नेताओं को अपने मंच पर बुलाया है। इससे साफ हो गया है कि अब उनका आंदोलन प्रजातंत्र के लिए नहीं है, बल्कि आंदोलन कांग्रेस के खिलाफ हो गया है।’ अन्ना के अनशन और राहुल गांधी को लेकर की गई टिप्पणी पर यह बातें पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व सांसद डुमरियागंज जगदम्बिका ने कहीं। श्री पाल ने कहा कि राहुल चाहते तो कभी का प्रधानमंत्री पद ले लेते मगर उन्होंने ऐसा नहीं किया।

देश की जनता राहुल गांधी के साथ है और वह देश के लिए कुछ करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि आज भाजपा और एनडीए सरकार के घटकों का अनशन स्थल पर जमा होना प्रमाणित करता है कि अन्ना अब भ्रष्टाचार के खिलाफ नहीं हैं। अन्ना को यूपी में बसपा, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश में भाजपा का भ्रष्टाचार दिखाई पड़ना चाहिए था, लेकिन उनकी यह घोषणा कि जिन पांच राज्यों में विधानसभा का चुनाव होने जा रहा है, वहां पर उनके लोग कांग्रेस के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगे, यह पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित है।उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने यह साफ कर दिया है कि भ्रष्टाचार रोकने के लिए प्रभावी व सशक्त बिल लेकर आएगी। अन्ना को अनशन नहीं करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अन्ना ने जनभावना का कर दिया राजनीतिकरण