DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो पूर्व एक वर्तमान विधायक की उम्मीदों को लगा झटका

सामूहिक इस्तीफे लेकर पहुंचे भाजपाइयों को मिला आश्वासन बाहर के लोग नहीं बनेंगे पार्टी प्रत्याशी दिल्ली में जिले के भाजपाइयों ने नेताओं को बताई जिले की बात मैनपुरी, हिन्दुस्तान संवाद सदर विधायक अशोक सिंह चौहान सपा के पूर्व विधायक अनिल यादव तथा सपा के किशनी क्षेत्र के पूर्व विधायक रामेश्वरदयाल वाल्मीकि की उम्मीदों को बड़ा झटका लगा है। भाजपा में शामिल होकर चुनाव लड़ने की उनकी मुहिम पर भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने रोक लगा दी है। इन नेताओं की वापसी का विरोध कर रहे जिले के भाजपा नेताओं की मंडली द्वारा दिल्ली में सामूहिक इस्तीफे दिए जाने के बाद भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने ये फैसला किया है कि अब जिला इकाई द्वारा भेजे गए पैनल में शामिल प्रत्याशियों में से ही किसी एक को चुनाव लड़ने की हरी झंडी दी जाएगी। पिछले कई दिनों से सदर विधायक अशोक सिंह चौहान और करहल के सपा से पूर्व विधायक अनिल यादव, किशनी से सपा के पूर्व विधायक रामेश्वरदयाल वाल्मीकि के भाजपा में शामिल होने और मैनपुरी-करहल और किशनी सीट पर इनके भाजपा प्रत्याशी बनने की चर्चाएं भाजपाई खेमे में थीं। भाजपाई सूत्रों के मुताबिक मैनपुरी सदर और करहल सीट पर तो पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने अशोक चौहान और अनिल यादव को पार्टी में शामिल कर चुनाव में दांव खेलने का फैसला भी कर लिया था, लेकिन जिले की भाजपा इकाई को जब यह पता चला तो पार्टी में विरोध शुरू हो गया। जिलाध्यक्ष मदन चौहान, पूर्व जिलाध्यक्ष शिवदत्त सिंह भदौरिया के नेतृत्व में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने पहले लखनऊ में अपना विरोध जताया लेकिन बात नहीं बनी तो ये सभी नेता दो दिन पूर्व केन्द्रीय नेतृत्व से मिलने पहुंच गए और वहां इन नेताओं ने सामूहिक इस्तीफे भी सौंप दिए। भाजपा की प्रदेश मंत्री तृप्ति शाक्य के नेतृत्व में रविवार को जिले के भाजपाइयों ने राजनाथ, कलराज, सूर्यप्रताप शाही, उमाभारती जैसे दिग्गजों से अपनी बात रखी। भाजपा नेताओं के दबाव के बाद इन नेताओं ने आश्वस्त किया कि जो पैनल में नाम आए है उन्हीं में से किसी को अधिकृत प्रत्याशी बनाया जाएगा। मैनपुरी से प्रेम, करहल से मदन हैं पैनल में शामिलमैनपुरी। जिले की भाजपा इकाई ने प्रदेश नेतृत्व को भेजे गए पैनल में करहल से मदन चौहान, किशनी से सुनील जाटव, मैनपुरी से प्रेम सिंह शाक्य और भोगांव से सरिता चौहान के नाम भेजे हैं। ये चारों प्रत्याशी लंबे अरसे से अपने-अपने क्षेत्रों में सक्रिय भी हैं। बाहर से आने वाले नहीं बनेंगे उम्मीदवार : तृप्तिमैनपुरी। रविवार को मोबाइल पर प्रदेश मंत्री तृप्ति शाक्य ने जानकारी दी कि भाजपा की जिला इकाई की भावनाओं का सम्मान रखा गया है। शीर्ष नेताओं से बैठक के बाद इस बात का फैसला हुआ है कि बाहर से आने वाले लोगों को पार्टी मैनपुरी में उम्मीदवार नहीं बनाएगी। पैनल में शामिल लोग ही पार्टी के प्रत्याशी होंगे। उन्होंने जिले के भाजपाइयों को भी आश्वस्त किया कि भाजपा किसी भी सूरत में कार्यकर्ताओं को मन के विपरीत जाकर चुनाव नहीं लडेम्गी। परिणाम चाहे जो निकले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो पूर्व एक वर्तमान विधायक की उम्मीदों को लगा झटका