DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिरफ्तारी नहीं होने लोग भड़के

गाजियाबाद। कार्यालय संवाददाता। मछली मंडी में गोदाम की दीवार गिरने के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर मृतक के परिजन, मंडी के व्यापारी समेत सैकड़ाें लोगों ने रविवार सुबह जीटी रोड पर जाम लगा दिया। उन्होंने आरोपियों को गिरफ्तार करने और मृतक व घायलों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की। थोड़ी ही देर में यह जाम लालकुआं से मोहननगर तक बढ़ गया।

मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह प्रदर्शनकारियों को शांत कराया और उनकी मांग को पूरा कराने का आश्वासन दिया। करीब चार घंटे तक जाम लगा रहा, लेकिन इसका असर शाम तक दिखा। जाम खुलवाने के लिए ट्रैफिक पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

मछली मंडी में शनिवार दोपहर अचानक एक कमजोर दीवार गिर गई। जहां बिरयानी कारोबारी शहजाद, उसके भाई अतिकुर रहमान व कारीगर मुनैत मलबे में दब गए थे। शहजाद की मौत हो गई और मुनैत व अतिकुर की हालत गंभीर है। शहजाद के भाई शहनवाज की तहरीर पर बांस-बल्ली गोदाम के मालिक हर्ष गर्ग व उनकी मां मंजू गर्ग के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी।

पुलिस ने परिजनों को आश्वासन दिया था कि शनिवार शाम तक आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी, मगर रविवार सुबह तक पुलिस के हाथ खाली थे। आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर रविवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे मछली मंडी के व्यापारी, स्थानीय लोग, पीड़तों के परिजन जीटी रोड पर एकत्रित हो गए।

हादसे में जो कुछ नकुसान हुआ था, उसे भी वह साथ लेकर गए थे और घंटाघर के सामने जीटी रोड जाम लगा दिया। उन्होंने मांग की कि आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए और मृतकों व घायलों के परिजनों को मुआवजा अदा किया जाए। अधिकारियों के उड़े होशजीटी रोड जाम करने से हजारों वाहनों की रफ्तार थम गई।

वाहन चालक घंटों हलाकन रहे। जैसे ही यह मैसेज पुलिस कंट्रोल रूम ने फ्लैश किया तो पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों के होश उड़ गए। मौके पर पुलिस-प्रशासन के आला अधिकारी पहुंचे और उन्होंने करीब आधे घंटे बाद जाम खुलवाया और उन्हें गिरफ्तारी के साथ मुआवाजा दिलाने का आश्वासन दिया। लेकिन चार घंटे तक वाहन रेंगते रहे और इसका असर शाम तक दिखा। जीटी रोड पर जाम लगाने के कारण देर शाम तक शहर में जाम की स्थिति बनी रही। पीएसी बल की संख्या बढ़ा दी गई है। घटनास्थल के आसपास इलाकों में भी उनकी तैनाती की गई है।

आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। हालांकि दोनों पक्षों में सुलह की बात भी चल रही है। पुलिस मामले में नजर बनाए हुए है।एलएस मौर्या, प्रभारी निरीक्षक

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गिरफ्तारी नहीं होने लोग भड़के