DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाराबंकी के दो कुख्यात बदमाश पुलिस के हत्थे चढ़े

 आजमगढ़। निज संवाददाता। नगर कोतवाली पुलिस ने बाराबंकी के दो कुख्यात बदमाशों को शनिवार की शाम रोडवेज बाईपास बंधे पर राजघाट के पास से गिरफ्तार किया। इनके पास से पुलिस ने एक तमंचा, दो जिंदा, एक खोखा कारतूस व नशीला पाउडर बरामद किया है। शहर कोतवाली प्रभारी के अनुसार पकड़े गये बदमाश बलिया में सुपारी पर एक व्यक्ति की हत्या करने जा रहे थे कि पुलिस के हत्थे चढ़ गये। गिरफ्तार बदमाशों में बाराबंकी जनपद के थाना कुर्सी क्षेत्र के नई बस्ती निवासी धर्मेन्द्र चौहान पुत्र रामप्रीति चौहान व कुर्सी थाना क्षेत्र का ही निवासी राहुल उर्फ रवि पुत्र बालावैन है। पुलिस के अनुसार नगर कोतवाल एमपी शुक्ल व ब्रह्मस्थान चौकी प्रभारी श्रवण कुमार अपने हमराही सिपाहियों के साथ बाइपास होते हुए बवाली मोड़ की तरफ आ रहे थे।

इसी दौरान राजघाट के पास दो बदमाश दिखाई दिये। पुलिस ने इनको पकड़ने का प्रयास किया तो बदमाश फायर कर भागने लगे। पुलिस ने घेराबंदी कर इन्हें मौके से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में गिरफ्तार बदमाशों ने कबूला कि वह बलिया जनपद के नगरा थाना क्षेत्र के पड़री कोड़रा निवासी वीर बहादुर चौहान पुत्र शिवनाथ चौहान की हत्या करने जा रहे थे। इसके लिए तीस हजार की सुपारी भी उन्हें मिली थी।

इसमें सात हजार रुपया उन्हें एडवांस मिला था। वीर बहादुर चौहान का भाई प्रमोद चौहान गोवा में मऊ जनपद निवासी रामविलास चौहान के साथ पार्टनरशिप में व्यवसाय करते हैं। वहां रामविलास चौहान का प्रमोद चौहान से विवाद हो गया। वीर बहादुर चौहान भी इस विवाद के वक्त मौजूद था। इस पर रामविलास चौहान को प्रमोद चौहान व उसके भाई वीरबहादुर चौहान ने मारपीट दिया। इससे उसका हाथ टूट गया था। वीरबहादुर चौहान इस समय अपने घर बलिया आया हुआ है। रामविलास की शादी पकड़े गये बदमाश राहुल की बहन से हुई थी। रामविलास ने 30 हजार में प्रमोद चौहान के भाई वीर बहादुर चौहान की हत्या करने की सुपारी दी। कोतवाल के अनुसार गिरफ्तार दोनों बदमाश दो वर्ष पहले जनपद सुल्तानपुर में बलवंत सिंह की बम मारकर हत्या कर चुके हैं। इसके अलावा आरोपितों पर कई संगीन मुकदमें दर्ज हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाराबंकी के दो कुख्यात बदमाश पुलिस के हत्थे चढ़े